उत्तर प्रदेश

जरीफनगर थाने मे हुए तबादले को लेकर महिला सिपाही व थाने के मुंशी मे हुई हाथपाई,

जरीफनगर थाने मे हुए तबादले को लेकर महिला सिपाही व थाने के मुंशी मे हुई हाथपाई,  

बैंक ड्यूटी पर तैनात महिला सिपाही की रवानगी कर दिए जाने की सूचना उसे फोन पर मुंशी के जरिये मिली कोतवाली पहुंची तो मुंशी और उसके बीच कहासुनी के उपरांत हाथपाई हो गई।

जयकिशन सैनी

बदायूँ। थाना जरीफनगर मे तबादला होने के बाद रवानगी को लेकर उझानी कोतवाली के दफ्तर में मुंशी और महिला सिपाही के बीच हाथापाई हो गई। साथी पुलिस कर्मियों के हस्तक्षेप पर दोनों वहां से हट गए लेकिन इसको लेकर हंगामा खूब हुआ। पिटाई का आरोप लगाते हुए महिला सिपाही गुस्से में दफ्तर से बाहर निकलकर सड़क पर पहुंची तो पुलिस कर्मी घबरा गए। बाद में उसने एसएसपी के सामने पेश होकर पूरे घटनाक्रम से अवगत कराया। जिस पर उन्होंने जांच के आदेश दे दिए।

मामला सोमवार दोपहर का है। महिला सिपाही का एक दिन पहले ही जरीफनगर थाने के लिए तबादला हुआ बैंक ड्यूटी पर तैनात महिला सिपाही की रवानगी कर दिए जाने की सूचना उसे फोन पर मुंशी के जरिये मिली। कोतवाली पहुंची तो मुंशी और उसके बीच कहासुनी हो गई। शोरगुल सुनकर प्रभारी निरीक्षक शैलेंद्र कुमार दफ्तर में पहुंच गए। उन्होंने और पुलिस कर्मियों ने दोनों को शांत कर दिया लेकिन इसके बाद महिला सिपाही बेवजह पीट दिए जाने की आवाज लगाती हुई दफ्तर से बाहर निकलीं और सड़क तक आ गई। हालांकि बाद में अपने कमरे पर चली गई लेकिन पुलिस कर्मियों को लगा कि कुछ अनहोनी न हो जाए, इससे उसे खोजने के लिए रेलवे स्टेशन तक पहुंच गए। मामले की शुरुआत किसने की, यह पुलिस की जांच का विषय है लेकिन महिला सिपाही ने दोपहर बाद बदायूं जाकर एसएसपी डॉ. ओपी सिंह को पूरी बात बताई। एसएसपी ने उसे जांच कराने का भरोसा दिलाया है। चर्चा है कि उसने अपने वरिष्ठ साथियों की भूमिका पर सवाल भी उठाया। उसका यहां तक कहना है कि अवकाश के मांगने पर उसे परेशान किया जाता रहा है। उसका तबादला भी कोतवाली स्तर की शिकायत पर किया गया है।

प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि कोई खास बात नहीं थी लेकिन दोनों के बीच कहासुनी हो गई। जिन दो महिला सिपाहियों का तबादला हुआ है, उनकी आपस में बनती नहीं थी, विभागीय अफसरों को रिपोर्ट भेज दी गई थी।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper