आपराधउत्तर प्रदेश

अपहरण का नाटक रचने वाले युवक को पुलिस ने सकुशल किया बरामद,

पुलिस ने युवक के विरुद्ध विधिक कार्रवाई संपादित की।

अपहरण का नाटक रचने वाले युवक को पुलिस ने सकुशल किया बरामद,

पुलिस ने युवक के विरुद्ध विधिक कार्रवाई संपादित की।
रिपोर्ट – एस.पी सैनी

सहसवान। सहसवान कछला मार्ग से 3 दिन पूर्व अपहरण हो जाने की झूठी सूचना देने वाले युवक को थाना कोतवाली पुलिस ने सर्विलांस के जरिए ढूंढ निकाला पुलिस ने युवक को तो सकुशल थाना कोतवाली पुलिस को सौंप दिया। परंतु उसके विरुद्ध थाना कोतवाली में झूठी सूचना देकर गुमराह करने की अलग से विधिक कार्यवाही संपादित करते हुए युवक को सकुशल उसके परिजनों को सौंप दिया।
ज्ञात रहे नगर के मोहल्ला अकबराबाद निवासी पंजाब नेशनल बैंक के चतुर्थ कर्मचारी सुनहरी लाल का 21 वर्षीय पुत्र अनमोल सहसवान कछला मार्ग पर स्थित फ्लोर मिल पर आटा लेने गया था। जहां उसने अपनी पत्नी कविता को मोबाइल पर बताया कि कुछ लोग उसे चार पहिया वाहन में डालकर अपहरण करके जबरदस्ती कहीं ले जा रहे हैं। तथा मोबाइल को बंद कर लिया घटना की जानकारी उपरोक्त के पिता सुनहरी लाल ने थाना कोतवाली पुलिस को लिखित रूप में देते हुए पुत्र अनमोल का अपरहण दर्ज कराए जाने का अनुरोध किया जिस पर पुलिस ने अनमोल का अज्ञात युवकों द्वारा अपहरण किए जाने का अपराध अपराध संख्या 621 वर्ष 2022 धारा 364 आईपीसी में दर्ज करते हुए विवेचना प्रारंभ कर दी विवेचना के दौरान अनमोल का मोबाइल नंबर सर्विलांस पर लगवा दिया अपराध पंजीकृत होते ही थाना कोतवाली पुलिस तुरंत सक्रिय हो गई।
प्रभारी निरीक्षक विशाल प्रताप सिंह ने अपरहण हुए युवक अनमोल को चुनौती के रूप में स्वीकार करते हुए उसके मोबाइल को सर्विलांस पर लगाकर विवेचना प्रारंभ कर दी। सर्विलांस पर अनमोल की लोकेशन दिल्ली की मिली जिस पर पुलिस को सर्विलांस से यह भी जानकारी मिली अनमोल में अपने मोबाइल से कॉल करने के बाद सिम निकाल कर नई सिम एक्टिवेट कर ली नई सिम एक्टिवेट होते ही अनमोल का थाना कोतवाली पुलिस को दिल्ली में लोकेशन ट्रेस हो गई पुलिस ने अनमोल को सकुशल बरामद कर थाना कोतवाली पुलिस ले आई जहां उससे जब सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने बताया उसके ऊपर काफी कर्ज हो गया था कर्ज उतारने के उद्देश्य से वह दिल्ली में मजदूरी करने के वास्ते गया हुआ था अनमोल ने बताया था कि उसके परिवार वाले उसे घर से बाहर नहीं भेजना चाहते थे। जिसके कारण उसने अपहरण होने का नाटक स्वयं रचा था।

पुलिस ने अनमोल को सकुशल बरामद कर उसके पिता सुनहरी लाल को सौंप दिया परंतु अपहरण का नाटक करने वाले अनमोल के विरुद्ध अलग से विधिक कार्रवाई संपादित कर दी। अनमोल को सकुशल बरामद करने वाली टीम में उपनिरीक्षक सिद्धांत शर्मा लव गिरी हेड आरक्षी कुलदीप सिंह आदि थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

3 × three =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper