आपराधउत्तर प्रदेश

घूसखोर लेखपाल के विरूद्ध पुलिस ने अभी तक नही लिखी रिपोर्ट, जिलाधिकारी ने किया था निलंबित, एसएसपी ने दिए पुलिस को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश,

घूसखोर लेखपाल के विरूद्ध पुलिस ने अभी तक नही लिखी रिपोर्ट, जिलाधिकारी ने किया था निलंबित, एसएसपी ने दिए पुलिस को भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश,

जयकिशन सैनी

बदायूं। जमीन का अंश बनाने के नाम पर किसान से घूस लेने वाले लेखपाल का वीडियो वायरल होने पर उस पर प्रशासनिक कार्रवाई तो हो गई लेकिन पुलिस आरोपी पर नजरें इनायत किए हुए है। यही वजह है कि आरोपी के खिलाफ एसएसपी ने मुकदमे का निर्देश दे दिया है। बावजूद इसके पुलिस आरोपी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने से कतरा रही है।
कस्बा उघैती के जयकेश का कुछ लोगों से जमीन को लेकर विवाद हुआ तो उन्होंने पंचायत बैठाई। यह तय हुआ कि जमीन में दोनों पक्ष लिखापढ़ी में अपने अंश बनवा लें और इसी आधार पर खेतीवाड़ी करें। चूंकि यह प्रक्रिया लेखपाल के जरिये संभव थी, ऐसे में जयकेश ने अपने हल्के के लेखपाल नानक चंद्र पाठक से संपर्क करके अंश बनाने को कहा। इस पर लेखपाल ने 20 हजार रुपये मांगे। जयकेश सात हजार रुपये लेकर आरोपी के पास पहुंचे और लेखपाल को रकम सौंपते वक्त कहा कि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। इसलिए इसी रकम से काम चला लें और अंश बना दें। लेखपाल ने रकम रख ली और इसी बीच उसका वीडियो भी बना लिया गया। जो बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ।
जब यह मामला उपजिलाधिकारी के संज्ञान में पहुंचा तो उन्होंने जिलाधिकारीको इसकी रिपोर्ट सौंपी। जिलाधिकारी के निर्देश पर आरोपी लेखपाल को निलंबित कर दिया गया। वहीं पीड़ित ने थाना पुलिस को इस मामले की तहरीर देकर आरोपी के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग की लेकिन पुलिस ने रिपोर्ट नहीं लिखी। पीड़ित पक्ष एसएसपी के सामने पेश हुआ। एसएसपी ने भी पुलिस को कार्रवाई का निर्देश दिया लेकिन कई दिन बीतने के बाद भी पुलिस ने आरोपी लेखपाल के विरूद्ध अभी तक रिपोर्ट दर्ज नही की है।

 

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper