प्रेम मे बाधा बन रहे पुत्र को माँ ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पुत्र को उतारा मौंत के घाट, 

प्रेम मे बाधा बन रहे पुत्र को माँ ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने ही पुत्र को उतारा था मौंत के घाट,

पुलिस ने माँ व उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर जिला जेल भेजा।

जयकिशन सैनी

बदायूं| रिश्तों को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। जहां में मां ने प्यार में बाधा  बन रहे अपने ही बेटे की हत्या करवा दी। आरोपी मां के प्रेमी ने अपने दामाद के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया। पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए हत्या में शामिल मां और उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर लिया है। मामला जिले के उझानी कोतवाली के बुर्रा फरीदपुर गांव का है। जहां एक किरायेदार के साथ लगभग दो महीने से मां का प्रेम प्रसंग चल रहा था और इसकी जानकारी बेटे को लग गई थी। बेटा दोनों के बीच में रोड़ा बन रहा था तभी मां ने अपने ही बेटे को रास्ते से हटाने की ठान ली। किरायेदार के साथ दो महीने का प्यार इस कदर परवान चढ़ा कि मां ने प्रेमी के साथ जिंदगी गुजारने का मन बना लिया और बेटे की हत्या करा दी। मृतक हिमांशु की मां के प्रेमी ब्रह्मपाल ने कबूला कि वह दो महीने से घर में बतौर किराएदार रह रहा था। इसी बीच ममता से उसके अवैध संबंध हो गए थे। हिमांशु को इसकी भनक लग गई थी। ऐसे में वह अक्सर इन दोनों से झगड़ा करता था। विवाद बढ़ने पर मामला खुलने के डर से दोनों चुप रहते थे। हिमाशु की मां के प्रेमी ब्रह्मपाल ने बताया कि ममता उसके साथ रहने को राजी थी लेकिन उसकी शर्त थी कि पहले हिमांशु को रास्ते से हटाया जाए। इसलिए उसका डीएल (ड्राइविंग लाइसेंस) बनवाने के बहाने ई रिक्शा से उसे अपने साथ सहसवान ले गया। वहां ब्रह्मपाल का दामाद राजू भी मिल गया तीनों ने मिलकर शराब पी।

हिमांशु को नशा ज्यादा होने पर दोनों ने उसकी  गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद दोनों ने शव को खेत में छिपा दिया। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और हत्या में शामिल मां और उसके प्रेमी को जेल भेज दिया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper