यदि संगीत प्रेम का भोजन है तो ‘द किंग ऑफ ऑल द वर्ल्ड’ के साथ

यदि संगीत प्रेम का भोजन है तो ‘द किंग ऑफ ऑल द वर्ल्ड’ के साथ फिल्मों के प्रति अपने प्रेम को तृप्त करें

एशिया का सबसे पुराना और सबसे बड़ा फिल्म महोत्‍सव मनमोहक संगीत के साथ शुरू होने के लिए तैयार है जो संगीत की ताकत और बांधने एवं पोषित करने की उसकी असीम शक्ति के लिए हमारी सहज मानवीय प्रशंसा को निश्चित तौर पर प्रकट करेगा। जी हां, भारत के 52वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव की शुरुआत ‘द किंग ऑफ द वर्ल्ड’ (एल रे डी टोडो एल मुंडो) से होने जा रही है जो एक म्यूजिकल शो तैयार करने के बारे में एक स्पेनिश म्यूजिकल ड्रामा है।

कार्लोस सौरा द्वारा लिखित एवं निर्देशित और मेक्सिको-स्पेन सह-निर्माता वाली यह फिल्‍म स्पेन एवं मैक्सिको को जोड़ने और दोनों देशों के बीच मौजूद संपर्क को नए सिरे से बहाल करने का एक कलात्मक प्रयास है जिसमें नए एवं आधुनिक दोनों प्रकार के संगीत एवं नृत्य का मेल है।

यह फिल्म प्रसिद्ध मैक्सिकन कोरियोग्राफर सारा की कहानी का अनुसरण करती है जिसे मंच निर्देशक और सारा के पूर्व पति मैनुअल जी द्वारा एक नया संगीत कार्यक्रम तैयार करने में मदद करने के लिए आमंत्रित किया जाता है। फिल्म में एक युवा किरदार आइनेस भी है जो अपने पिता और स्थानीय भीड़ से निपटने के दौरान एक उभरते सितारे के रूप में दिखाई देगा।

यह फिल्म दोनों देशों को एक साथ जोड़ने वाले धागों का पता लगाने की कोशिश करती है जिसमें दोनों देशों के अभिनेताओं और नर्तकियों की उल्‍लेखनीय भूमिका है। एना डे ला रेगुएरा, मैनुअल गार्सिया रूल्फो, डेमियन अल्काजर, एनरिक एर्स, मनोलो कार्डोना, इसाक हर्नांडेज और ग्रेटा एलिसोंडो के नेतृत्व में इसे तैयार किया गया है।

आईएफएफआई 52 के प्रतिनिधिमंडल ट्रेजडी, फिक्‍शन और रियलिटी के संगीतमय संगम के साथ सिनेमाई उत्कृष्टता के इस नौ दिवसीय महोत्सव की शुरुआत करेंगे। फिल्म समारोह गोवा में 20 से 28 नवंबर 2021 के दौरान हाइब्रिड तरीके से आयोजित किया जा रहा है।

Related Articles

Back to top button