आपराधउत्तर प्रदेश

बदायूँ जिला अस्प्ताल में चोरों का आतंक, सीटी स्कैन सेंटर पर लगे जनरेटर से चुराई बैट्री,  

बदायूँ जिला अस्प्ताल में चोरों का आतंक, सीटी स्कैन सेंटर पर लगे जनरेटर से चुराई बैट्री,

जयकिशन सैनी (समर इंडिया)

बदायूं। सर्दी भरी रात में जिला अस्पताल में चोरी हो गई है। चोरों ने इस बार जिला अस्पताल के सीटी स्कैन सेंटर से जनरेटर की बैट्री को चोरी कर लिया है। चोरी होने के बाद जनरेटर की सुविधाएं चौपट हो गई हैं अब मरीजों को बिजली जाने के बाद दिक्कत हो सकती है। फिलहाल चोरी की घटना के बाद मामले की जांच शुरू कर दी है।

जिला अस्पताल में सोमवार व मंगलवार की रात में चोरी की घटना हो गई। जिला अस्पताल के सीटी स्कैन के जनरेटर से चोरों ने बैट्री चोरी कर ली। रात में चोरी होती रही और किसी को जानकारी तक नहीं हुई। सुबह के समय जब सीटी स्कैन का स्टाफ आया और देखा तो पता चला कि जनरेटर का जाल तोड़कर अंदर से बैट्री चोरी कर ली है। इसकी जानकारी अधिकारियों और पुलिस को दी। पुलिस ने आकर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।यहां चौकीदार होने के बाद भी चोरी की घटना हो गई। चौकीदार की ड्यूटी पर सवाल खड़े हो गए हैं।222222222222222दो महीने पहले चोरी हुए थे पाइप:- जिला अस्पताल में हर दो चार महीने बाद सामान की चोरी की घटना होती है। चोरी की घटना के बाद जिला अस्पताल के केवल तहरीर देकर पुलिस को मामला शांत कर लेता है लेकिन अभी तक यहां की एक भी चोरी की घटना का खुलासा नहीं हो सका है। पिछले कई वर्षों से चोरी की घटनाएं चल रही हैं। पिछली बार चोरी की घटना के चलते अस्पताल के ही कुछ संदिग्ध लोगों पर संदेह हुआ था इस बार भी ऐसा ही लग रहा है।

पुलिस चौकी की नाक तले घटना:- जिला अस्पताल में पुलिस चौकी की नाक तले चोरी की घटना हुई। जिस तरह से घटना हुई है उससे साफ लग रहा है कि घटना को अंजाम देने में कम से कम एक घंटा लगा होगा। मगर पुलिस चौकी को भनक तक नहीं लगी। मगर भनक तो तब लगती वहां के कर्मचारियों की मानें तो दिन में पुलिस कर्मी घूमते दिखते हैं लेकिन रात को चौकी पर कोई नहीं रहता है।

क्या कहते हैं सीटी स्कैन प्रभारी:- जिला अस्पताल के सीटी स्कैन प्रभारी नसीम खान का कहना है कि सुबह आकर देखा की जनरेटर से बैटरी सहित सामान चोरी हो गई है। इसके बाद इसकी लिखित शिकायत सीएमएस को दी है। सीएमएस ने कोतवाली पुलिस को जानकारी दी है। अब पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

four + eighteen =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper