उत्तर प्रदेश

सफाई कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल करने की दी गई चेतावनी से पूर्व कर दी काम रोको हड़ताल,

पालिका प्रशासक ने हड़ताल को औचित्यहीन बताया, हड़ताल के कारण सफाई एवं अलाव व्यवस्था ठप

सफाई कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल करने की दी गई चेतावनी से पूर्व कर दी काम रोको हड़ताल,

पालिका प्रशासक ने हड़ताल को औचित्यहीन बताया, हड़ताल के कारण सफाई एवं अलाव व्यवस्था ठप
रिपोर्ट – एस.पी सैनी

सहसवान| उत्तर प्रदेश की सफाई मजदूर संघ शाखा द्धारा ठेका मजदूरों के साथ संयुक्त रूप से 9 सूत्रीय मांगों को लेकर औचक की गई हड़ताल से जहां अधिकारी हतप्रभ रह गए हैं। वही हड़ताल का औचित्य नगर की जनता के गले नहीं उतर रहा है। इधर उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ शाखा ने प्रभारी निरीक्षक को एक ज्ञापन देकर महिला मजदूर ठेका कर्मचारियों के साथ पालिका प्रशासन पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए अपराध पंजीकृत कराए जाने की मांग की है। वही पालिका प्रशासक ने सफाई कर्मियों की हड़ताल को बेबुनियाद बताते हुए चेतावनी दी है की सफाईकर्मी तत्काल काम पर लौट आए अन्यथा उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी यही नहीं प्रशासक ने कार्यदाई संस्था के प्रबंधक को भी कड़ी चेतावनी देते हुए कहा है। कि ठेका मजदूर भी सफाई कर्मचारियों के साथ हड़ताल पर चले गए हैं उनके हड़ताल के जाने का कोई औचित्य नहीं है उन्होंने प्रबंधक से हड़ताल पर गए ठेका मजदूरों को निकालकर नए मजदूरों की नियुक्ति करने के निर्देश दिए हैI

ज्ञात रहे उत्तर प्रदेश की सफाई मजदूर संघ शाखा सहसवान ने ठेका मजदूर सफाई कर्मचारियों के साथ अपनी 9 सूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार 9 जनवरी से अनिश्चितकालीन हड़ताल करने की दी गई चेतावनी के बाद हड़ताल प्रारंभ कर दी जबकि चर्चा है सफाई कर्मचारियों ने 7 जनवरी से सुबह से ही नगर में सफाई व्यवस्था चौपट कर दी तथा कहीं अलाव भी नहीं जलाए सफाई व्यवस्था न होने से जहां नगर में गंदगी के अंबार लगने शुरू हो गए वहीं अलाव ना जलने से लोग ठंड में कांपते नजर आएl उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ शाखा नगर अध्यक्ष सत्यवीर सिंह बाल्मीकि ने पालिका प्रशासन के नाम 7 जनवरी को 9 सूत्रीय ज्ञापन सौंपकर चेतावनी दी। कि अगर पालिका ने उनकी मांगें पूर्ण नहीं की तो 9 जनवरी दिन सोमवार से सफाई कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले जाएंगेI

इधर पालिका प्रशासन डॉ.राजेश कुमार ने जानकारी देते हुए बताया से सफाई मजदूर संघ शाखा का मांगों से संबंधित ज्ञापन 7 जनवरी को शाम 4 बजे के लगभग प्राप्त हुआ उन्होंने उनकी मांगों को औचित्य हीन बताते हुए कहा की कि उन्होंने अपने 1 वर्ष के कार्यकाल में किसी भी ठेकेदार एवं अन्य मत का कोई भुगतान नहीं किया है। जितना भी भुगतान किया है। उन्होंने अपने कर्मचारियों का किया है।

उन्होंने कहा कि पूर्व में भुगतान कर्मचारियों का काफी संख्या में था जिसको उन्होंने थोड़ा-थोड़ा करके रिटायरमेंट कर्मचारियों की भविष्य निधि पेंशन तथा आदि फंडों का पैसा का भुगतान किया है। उन्होंने कर्मचारियों के हितों को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए उनके हितों के लिए ही कार्य किया है। परंतु कुछ चंद लोगों के बहकावे में आकर सफाई कर्मचारियों ने जो हड़ताल की है। वह उचितहीन है प्रत्येक कर्मचारी को अपनी बात कहने का अपना पक्ष रखने का रास्ता खुला हुआ है वह प्रत्येक दिन कार्यालय में बैठकर कर्मचारियों की समस्याएं सुनते हैं परंतु कर्मचारियों ने अपनी कोई भी समस्या नहीं बताई और नहीं हड़ताल करने का कोई नोटिस पहले से दिया गया अचानक की गई हड़ताल को उन्होंने औचित्य हीन करार दियाI

प्रशासन ने कहा की ठेका मजदूरी पर रखे गए सफाई कर्मचारी भी उत्तर प्रदेशीय सफाई मजदूर संघ शाखा के साथ हड़ताल पर चले गए हैं उनके साथ काम नहीं तो भुगतान नहीं की नीति अपनाई जाएगी।

वहीं उन्होंने कार्यदाई संस्था के अध्यक्ष को कार्यदाई संस्था के प्रबंधक को पत्र लिखकर चेतावनी दी है।कि वह ठेका प्रथा में रखे गए सफाई कर्मचारी जो हड़ताल कर रहे हैं उन्हें बाहर का रास्ता दिखाते हुए नए मजदूरों की भर्ती करें उन्होंने कार्यवाहक सफाई निरीक्षक अब्दुल फरीद से कहा कि वह ठेका प्रथा में रखे गए सफाई मजदूरों वाह पालिका के सफाई कर्मचारियों सूची तत्काल उपलब्ध कराएं उन्होंने पालिका के सफाई कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए हैंl

इधर सफाई मजदूर संघ शाखा कर्मचारियों ने पालिका परिसर में कार्यालय खुलते ही भारी तादाद में एकत्रित होकर नारेबाजी की तथा कहा कि जब तक हमारी मांगे पूरी नहीं हो जाती तब तक हड़ताल जारी रहेगी वही 5 महिला सफाई कर्मचारी ठेके पर रखी हुई थी उनके प्रशासक द्वारा अभद्र व्यवहार किए जाने का आरोप लगाते हुए थाना कोतवाली को एक प्रार्थना पत्र प्रेषित करते हुए प्रशासक के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज किए जाने की भी मांग की पालिका प्रशासक डॉ राजेश कुमार ने उत्तर प्रदेश सफाई मजदूर संघ शाखा कर्मचारियों द्वारा कोतवाली में ठेका प्रथा पर रखे गई महिला मजदूर सफाई कर्मियों के साथ अभद्र व्यवहार करने के लगाए गए आरोप को एक षड्यंत्र बताते हुए कहा कि उन्होंने किसी भी महिला मजदूर सफाई कर्मियों के साथ कोई अभद्र व्यवहार नहीं किया है। उनका यह आरोप बेबुनियाद एवं झूठा हैI सफाई कर्मचारियों द्धारा हड़ताल पर चले जाने से नगर में सफाई व्यवस्था एवं अलाव जलाए जाने का कार्य पूर्ण रूप से बंद हो जाने के कारण नागरिकों को भारी परेशानी का सामना करना  पड़ रहा है।

प्रशासक ने दो टुक कहा की सफाई कर्मचारियों को अपनी बात कहने का हमेशा द्धार खुला है। वह अपनी बात कह सकते हैं परंतु षड्यंत्र के तहत अचानक की गई अनिश्चितकालीन हड़ताल से उनके मकसद कामयाब नहीं होंगेI

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nineteen − three =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper