राहुल गांधी को मिल सकती है लखीमपुर जाने की इजाजत, कांग्रेस के खिलफ लगीं होल्डिंग्स

लखनऊ।  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने आला अधिकारियों के साथ बैठक बैठक कर कांग्रेस  के प्रतिनिधिमंडल को लखीमपुर जाने के बावत मंथन किया है। राहुल गांधी को लखीमुपुर जाने की अनुमति भी दी जा सकती है। राहुल गांधी के साथ भूपेश बघेल, पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और सचिन पायलट को भी लखीमपुर जाने की इजाजत मिल सकती है।

इससे पहले कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को उत्तर प्रदेश में आकर लखीमपुर खीरी जाने पर प्रशासन ने रोक लगा दी गई थी। इस बीच लखीमपुर में राहुल गांधी की मुखालफत में बैनर लग गये हैं। इस बैनर पर लिखा है सन् 84 के सिख दंगों के आरोपी वापस जाओ।  राहुल गांधी वापस जाओं, प्रियंका गांधी वापस जाओ, नहीं चाहिये झूठी सहानभूति। 

गौर हो कि, लखीमपुर खीरी में धारा 144 लागू है। इसी का संज्ञान लेते हुए राहुल गांधी ने कहा है कि, कानून की यह धारा केवल 5 लोगों को रोकती है, हम केवल तीन लोग ही जा रहे हैं।

राहुल के मुताबिक, हमने उनको चि_ी लिख दिया है। विपक्ष का काम दबाव बनाने का है ताकि कार्रवाई हो। उनका तर्क है कि, हाथरसकांड में हमारे दबाव के बाद कार्रवाई हुई। जब हम दबाव बनाते हैं तो कार्रवाई होती है।

राहुल का कहना है कि, प्रियंका को जबरन बंद किया गया है। मामला किसानों का है और कई राज्यों के मुख्यमंत्रियों तक को यूपी नहीं जाने दिया जा है। यूपी में अपराधियों को खुली छूट मिली है। हम लखीमपुर में पीड़ित परिजनों से मिलना चाहते हैं।

राहुल ने कहा कि, हमने क्या गलती की जो रोका जा रहा है। सरकार किसानों को उकसा रही है। यूपी में किसानों को मारा जा रहा है। सरकार किसानों की ताकत नहीं समझ रही।

इस बीच लखीमपुर में कुछ होर्डिंग्स लगीं हैं। इसमें कांग्रेस को 1984 के कत्लेआम का आरोपी बताया गया है। राहुल और ्रपङ्क्षयका से झूठी सहानुभूति न दिखाने की अपील करते हुए वापस जाने की बात इस होल्र्ढिंग्स में है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper