पं अमन मयंक शर्मा ने कछला को तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थल घोषित करने की मुख्यमंत्री से मांग की|

भागीरथी सेवा समिति के अध्यक्ष पं अमन मयंक शर्मा ने कछला को तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थल घोषित करने की मुख्यमंत्री से मांग की|

बदायूं| जनपद की प्रमुख सामाजिक संस्थाएं भागीरथी सेवा समिति,बदायूँ गौरव क्लब,बदायूँ गौरव महोत्सव समिति ,भारतीय एकता परिवार एवं माँ गंगा अमृतकुंज सेवा संस्थान द्वारा भागीरथी सेवा समिति एवं माँ गंगे अमृतकुंज सेवा संस्थान के अध्यक्ष अमन मयंक शर्मा के नेतृत्व में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित ज्ञापन शेखूपुर विधायक धर्मेंद्र शाक्य उर्फ पप्पू भईया को दिया गया।जिसमें कछला घाट को भागीरथ घाट,कछला को भागीरथ नगर घोषित करने एवं कछला को तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थल घोषित करने की मांग की गई है।भागीरथी सेवा समिति एवं माँ गंगा अमृतकुंज सेवा संस्थान के अध्यक्ष अमन मयंक शर्मा ने ज्ञापन में बताया है कि उपरोक्त संस्थाएं जनपद बदायूँ की प्रमुख सामाजिक संस्थाएं हैं।

इन संस्थाओं द्वारा विगत कई वर्षों से निरंतर कछला गंगा घाट पर माँ गंगा की साफ सफाई की जा रही है।कछला गंगा घाट आध्यात्मिक एवं पौराणिक दृष्टि से अत्यंत समृध्द है।भागीरथ गुफा कछला गंगा घाट से कुछ ही दूरी पर स्थित हैं जहां भागीरथ ने माँ गंगा को पृथ्वी पर लाने के लिए तपस्या की थी।कछला राजा भागीरथ की तपस्थली है।कछला महर्षि कश्यप और उनकी पत्नी इला की कर्मभूमि भी है।कछला गंगा घाट पर पिछले तीन वर्ष से काशी की तर्ज पर माँ गंगा की भव्य आरती भी प्रतिदिन हो रही है।कछला गंगा घाट पर लाखों की संख्या में रूहेलखंड के साथ साथ राजस्थान के कई जिलों के लोग भी नियमित तीर्थस्नान करने आते हैं।हर महीने की पूर्णमासी को साल में बारह बार कछला गंगा घाट पर मेला लगता है।लाखों लोगों की आस्था कछला तीर्थ में हैं।कछला बदायूँ जनपद का प्रमुख पर्यटन स्थल है।

आध्यात्मिक,पर्यटन एवं पौराणिक दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण होने के वावजूद भी अभी तक कछला को भागीरथ नगर एवं कछला गंगा घाट को भागीरथ घाट घोषित नही किया गया है एवं प्रदेश सरकार द्वारा कछला को तीर्थस्थल एवं पर्यटन स्थल घोषित नही किया गया है।जनपद बदायूँ की प्रमुख सामाजिक संस्थाएं भागीरथी सेवा समिति,बदायूँ गौरव क्लब,बदायूँ गौरव महोत्सव समिति,भारतीय एकता परिवार एवं माँ गंगा अमृतकुंज सेवा संस्थान प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं धर्मार्थ कार्य एवं पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी से मांग करती है कि कछला को भागीरथ नगर,कछला गंगा घाट को भागीरथ घाट घोषित कर प्रदेश सरकार कछला को तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थल की मान्यता प्रदान करें।जिससे कछला तीर्थ का सर्वांगीण विकास हो सके।साथ ही भागीरथ सेवा समिति सहित इन प्रमुख सामाजिक संस्थाओं को कछला तीर्थ की देख रेख का जिम्मा भी प्रदान किया जाये।


शेखुपुर विधायक धर्मेद्र शाक्य उर्फ पप्पू भइया ने आश्वासन दिया कि उपरोक्त मांग एवं ज्ञापन को सहसवान में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री के समक्ष रखा जाएगा।मुख्यमंत्री से माँग करी जाएगी कि कछला को तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थल घोषित करें एवं साथ ही कछला नगर को भागीरथ नगर एवं कछला गंगा घाट को भागीरथ घाट का नाम दिया जाए।


इस अवसर पर सामाजिक संस्थाओं के प्रमुख पदाधिकारीगण गौरव पाठक, रितेश उपाध्याय,दिनेश शर्मा,कौशल राठौड़,अशोक सक्सेना आदि मौजूद रहे।
समर इंडिया ब्यूरो चीफ – जयकिशन सैनी

Related Articles

Back to top button
E-Paper