उत्तर प्रदेश

सहसवान कोतवाली क्षेत्र के भीकमपुर में पशु तस्करों से पुलिस की हुई मुठभेड़, दो तस्करों को लगी गोली,

दो कुंतल पशुओं का मांस, व मांस काटने के उपकरण सहित 315 बोर का तमंचा व अन्य सामान भी हुआ बरामद  

सहसवान कोतवाली क्षेत्र के भीकमपुर में पशु तस्करों से पुलिस की हुई मुठभेड़, दो तस्करों को लगी गोली,

दो कुंतल पशुओं का मांस, व मांस काटने के उपकरण सहित 315 बोर का तमंचा व अन्य सामान भी हुआ बरामद  
जयकिशन सैनी (समर इंडिया)

सहसवान। कोतवाली क्षेत्र में बृहस्पतिवार रात फिर एक बार पशु तस्करों से मुठभेड़ हो गई। कोतवाली क्षेत्र के गांव भीकमपुर के जंगल में पशु तस्करों ने एक संरक्षित पशु की हत्या कर दी। तस्कर जंगल में पल्ली बिछाकर मांस काट रहे थे। इसी दौरान पुलिस को सूचना मिल गई और पुलिस ने उनकी घेराबंदी कर दी। तभी तस्करों ने पुलिस पर फायरिंग की। जवाबी फायरिंग में दिलशाद और आरिफ नाम के दो तस्करों को पैर में गोली लग गई।6baa7143 0ccb 45a3 a413 5055c5e96df9मुखबिर द्धारा मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने भीकमपुर गांव के जंगल में छापामारा जहां गोवंशों के वध की तैयारी चल रही थी जब पुलिस मौके पर पहुंची। कि इसी दौरान तस्करों ने पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी हमले में पुलिस ने भी गोलीबारी की तो दो तस्कर पैर में गोली लगने से घायल हो गए। जबकि दो को कांबिंग के दौरान पुलिस ने धर लिया। इनके पास से तमंचे और कारतूस बरामद किए हैं। वहीं दो कुंतल मांस के अलावा वध करने के उपकरण, असलहे और तराजू आदि भी मिला है।

पुलिस ने बन्ने मियां और नूर आलम नाम के तस्करों को भी गिरफ्तार किया है। मौके से संरक्षित पशुओं का मांस और मांस काटने के औजार बरामद हुए हैं। पुलिस ने चारों तस्करों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस ने गिरफ्तार हुए पशु तस्करों को जेल भेज दिया है।

ये है तस्करों का गैंग:- एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा ने बताया कि मुठभेड़ में घायल हुए तस्करों में दिलशाद व आरिफ निवासीगण गांव भीकमपुर के अलावा बन्ने मियां और नूर आलम हैं। जबकि बाकी के तीन की तलाश चल रही है।

 सप्ताह भर में दूसरी हुई मुठभेड़:- सहसवान कोतवाली पुलिस ने गोवंश तस्करों के खिलाफ अभियान चलाते हुए सप्ताहभर में दूसरी मुठभेड़ हुई है। पिछले सप्ताह भी टीम ने एक तस्कर को गोली मारकर पकड़ा था।

पशु तस्करों से मुठभेड़ के दौरान टीम में अपराध निरीक्षक दीगम्बर सिंह 2. उ0नि0 रामेन्द्र सिंह,विकास पूनिया,नरेन्द्र सिंह, का0 सन्तोष कुमार,नीरज कुमार,संजीव कुमार,नदीम अहमद,नगेन्द्र सिंह,विष्णू,सन्नी सहित कई पुलिस कर्मी साथ थे।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

20 − 17 =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper