देवभूमि (उत्तराखंड)

जानिए क्या है केदारनाथ बद्रीनाथ धाम पुनर्निर्माण परियोजना

Know what is Kedarnath Badrinath Dham Reconstruction Project

बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम की बात करें तो अभी पिछले कुछ दिनों पहले बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण कार्यों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए समीक्षा की है. देहरादून में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मुख्य सचिव एसएस संधू भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े. ड्रोन के जरिए निर्माण कार्यों को दिखाया गया.

आपको बताते चले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में बद्रीनाथ और केदारनाथ धाम का पुनर्निर्माण शामिल है. ऐसे में गुरुवार को बद्रीनाथ के मास्टर प्लान के साथ केदारनाथ धाम के कई निर्माण कार्यों की समीक्षा की गई. केदारनाथ में पहले फेज की पुनर्निर्माण परियोजना पूरी हो चुकी है. इन दिनों दूसरे फेज पर काम युद्ध स्तर पर जारी है. पूरी परियोजना को दिसंबर 2023 तक कार्य पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है.

पहले फेज के केदारनाथ धाम में हुए यह काम पूरे

तीर्थपुरोहितों के लिए आवासीय परिसर का निर्माण
आस्था पथ का निर्माण
सिक्यूरिटी वॉल का निर्माण
केदारनाथ मंदिर से पैदल मार्ग व चबूतरे का निर्माण
केदारनाथ मंदिर परिसर का चौड़ीकरण
केदारनाथ से गरुड़चट्टी तक पैदल मार्ग बनाया गया
सरस्वती नदी पर पुल बनकर तैयार
मंदाकिनी नदी पर गरुड़चट्टी जाने के लिए ब्रिज तैयार
मंदाकिनी व सरस्वती नदी पर सुरक्षा घाट बने
गढ़वाल मंडल विकास निगम के भवनों का निर्माण
हेलीपैड बनकर तैयार
केदारपुरी के चारों ओर सिक्यूरिटी वॉल बनाई गईं
केदारनाथ धाम में दूसरे फेज के विकास कार्य
मंदिर समिति के भवन का निर्माण
मुख्य पुजारी आवास व डिस्पेंसरी का निर्माण
तीर्थ पुरोहितों के आवासीय परिसरों का निर्माण
रामबाड़ा से केदारनाथ तक पैदल मार्ग का निर्माण
आस्था पथ का निर्माण
हाट बाजार का निर्माण सरस्वती नदी पर ब्रिज का निर्माण
इशाणेश्वर मंदिर का निर्माण
मंदाकिनी व सरस्वती नदी पर सिक्यूरिटी वॉल का निर्माण
बद्रीनाथ महायोजना के पहले फेज में प्रस्तावित वन-वे लूप रोड
अराइवल प्लाजा लेक फ्रंट डेवलपमेंट हास्पिटल एक्सटेंशन बाईपास सड़क रिवर फ्रंट डेवलपमेंट

पीएम मोदी को किया आमंत्रित

वहीँ दूसरी ओर सीएम पुष्कर सिंह धामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बद्रीनाथ केदारनाथ आने के लिए आमंत्रित किया है. उनका कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी निकट भविष्य में आ सकते हैं. उनका कहना है कि कई विभागों की रायशुमारी के बाद पुनर्निर्माण के कार्यों को किया जा रहा है. अभी आसपास होटल और लॉज के चलते ऐसा संभव नहीं है, लेकिन जब ये निर्माण हट जाएंगे तो दूर से भगवान बद्रीनाथ के मंदिर के दिव्य दर्शन हो सकेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 2 =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper