देवभूमि (उत्तराखंड)

जोशीमठ : सीएम के सामने प्रभावित लोगो ने रोते हुए कही ये बात

Joshimath Case: Affected people said this while crying in front of CM

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे आपको बतादें कि दो दिन के प्रवास पर जोशीमठ पहुंचे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार रात राहत शिविरों में जाकर आपदा प्रभावितों का दुख-दर्द बांटा मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर प्रभावित भावनाओं पर नियंत्रण नहीं रख पाए और उनसे लिपटकर फूट-फूटकर रोने लगे।

वहीँ दूसरी ओर प्रभावित लोगो का यही कहना था कि उन्हें एक अदद छत दिला दीजिए बस! इस पर मुख्यमंत्री ने प्रभावितों को भरोसा दिलाया कि इस दुख की इस घड़ी में सरकार उनके साथ खड़ी है। सभी प्रभावितों का पूरा ख्याल रखा जाएगा। सरकार किसी को नाउम्मीद नहीं करेगी।

आपको बतादें कि आगे प्रभावित लोगो कहाँ कि जीवनभर की कमाई से जो मकान बनाया था, वह आपदा की भेंट चढ़ गया मुख्यमंत्री सबसे पहले नगर पालिका राहत शिविर में रह रहे उर्गम कालोनी निवासी देवेंद्र सिंह रावत के परिवार से मिले। देवेंद्र ने उन्हें बताया कि एसएसबी से सेवानिवृत्त होने के बाद उन्होंने जीवनभर की कमाई से जो मकान बनाया था, वह आपदा की भेंट चढ़ गया।

सीएम धामी से गुहार लगते हुये उन्होंने कहा कि अब हमारे पास कुछ भी नहीं बचा है। अपनी छह माह की बेटी खुशी को गोद में लिए हुए वहीं पास बैठी देवेंद्र की पुत्रवधू अनुसूया भी यह सुनकर फूट-फूटकर रोने लगी। बोली, सर! हमें राशन-कंबल की जरूरत नहीं है।

वहीँ दूसरी और मुख्यमंत्री धामी इसी शिविर में रह रहे दिगंबर सिंह बिष्ट से भी मिले। उनकी पत्नी उषा देवी ने भी मुख्यमंत्री से मदद की गुहार लगाई। बोली, ‘सिंहधार में एकमात्र घर ही उनकी संपत्ति था, उसे भी नियति ने छीन लिया। अब वह बच्चों के साथ सड़क पर हैं यह कहते-कहते उनकी आंखें सजल हो उठीं। यही शिविर ल्यारीथैंणा निवासी रैना देवी के परिवार का भी आसरा बना हुआ है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2 × 1 =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper