उत्तर प्रदेश

नगर निकाय चुनाव 2022 के बदले आरक्षण ने सूरमाओं के बिगाड दिये राजनितिक समीकरण

नगर निकाय चुनाव 2022 के बदले आरक्षण ने सूरमाओं के बिगाड दिये राजनितिक समीकरण

जयकिशन सैनी (समर इंडिया)

बदायूँ। अंतिम आरक्षण सूची जारी होने के बाद नगर निकाय चुनाव का बिगुल बज गया है। वर्ष 2017 के आरक्षण के सापेक्ष वर्ष 2022 के आरक्षण में बड़ा फेरबदल हुआ है। जिससे क्षेत्र में अपनी जीत का डंका पीटने वाले सियासी महारथियों का सर्दी में पसीना छूट गया। आरक्षण ने तमाम लोगों को चेयरमैन पद की दावेदारी से बाहर कर दिया है। कल सोमवार देर शाम जारी हुयी आरक्षण की सूची ने जिले की नगर पालिकाओं एवं नगर पंचायतों में सियासी समीकरण बदल दिये है। नगर पालिका परिषद की बात करें तो सात में से पांच के आरक्षण बदले गये है। सहसवान और ककराला पर आरक्षण एक सामान है। बदायूं नगर पालिका परिषद और दातागंज नगर पालिका के आरक्षण बदलने से राजनीतिक दलों के सूरमाओं के अरमान पानी में बह गये है। वहीं नगर पंचायतों के आरक्षण में भी बड़ा बदलाव हुआ है। जिसमें वजीरगंज, इस्लामनगर, बेहटा के नेताओं के ऊपर खासा असर पड़ा है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper