उत्तर प्रदेश

मीरा साहब अली ईदगाह के पेश ए इमाम हाफिज अच्छन साहब का हुआ इंतकाल,

इंतकाल की खबर सुनकर नगर में भारी शोक, ईदगाह के पास हुए सुपुर्द ए खाक

मीरा साहब अली ईदगाह के पेश ए इमाम हाफिज अच्छन साहब का हुआ इंतकाल,

इंतकाल की खबर सुनकर नगर में भारी शोक, ईदगाह के पास हुए सुपुर्द ए खाक
रिपोर्ट – एस.पी सैनी

सहसवान। नगर की मीरा साहब अली ईदगाह के पेश ए इमाम हाफिज सुजात अली उर्फ अच्छन साहब का 11:45 बजे के लगभग पैतृक आवास पर इंतकाल हो गया वह 43 साल से मीरा साहब अली ईदगाह के पेश ए इमाम रहे हाफिज सुजात अली उर्फ अच्छन साहब 73 वर्ष के थे। तथा समाज के लोगों व बच्चों को दीनी तालीम देने के वास्ते अविवाहित रहेI

सहसवान नगर के मोहल्ला पठान टोला मैं मीरा साहब अली ईदगाह के पेश ए इमाम हाफिज सुजात अली उर्फ अच्छन साहब पुत्र अजहर हुसैन नगर के मोहल्ला दहलीज के निवासी थे। मीरा साहब अली ईदगाह के पेश ए इमाम वर्ष 1979 मैं पेश ए इमाम सर्वसम्मति से चुने गए हाफिज साहब का जन्म 29 नवंबर 1949 को नगर के मोहल्ला दहलीज में जन्म लिया था। बचपन से ही वह समाज को अच्छे मार्ग पर चलने के लिए सजग करते रहते थे। हाफिज अच्छन साहब ने नगर के मोहल्ला मदरसा गुलाम आने रसूल में वर्ष 1984 से स्कूली बच्चों को दीनी तालीम की शिक्षा देना प्रारंभ की थी। वह समाज के लोगों की खिदमत करना अपना फर्ज समझते थे। समाज के लोगों की खिदमत करना स्कूली बच्चों को दीनी तालीम का ज्ञान देकर उन्हें जागृत करने का शौक था। इसी शौक के चलते उन्होंने निकाह नहीं किया अविवाहित रहना ही उचित समझाI ईदगाह पेश इमाम ने नगर के मोहल्ला पठान टोला की राईन मस्जिद में वर्ष 2003 तक इमामत भी कीI

हाफिज साहब 73 वर्ष की आयु में अपने पैतृक आवास मोहल्ला दहलीज में 11:25 बजे के लगभग इंतकाल हो गया उनके इंतकाल की खबर मिलते ही भारी तादाद में उनके चाहने वालों की भारी भीड़ का जमावड़ा उनके आवास पर पहुंचना प्रारंभ हो गया उनके जनाजे को उनके आवास से मीरा साहब अली ईदगाह पर ईशा की नमाज के उपरांत 8:30 बजे नमाज ए जनाजे अता की गई तत्पश्चात उनके जनाजे को उनके पैतृक कब्रिस्तान में सुपुर्द ए खाक किया गया उनके जनाजे में भारी तादाद में लोग शामिल थेI

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

1 + five =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper