सर्दियां बढ़ने के साथ बढ़े सोरायसिस और एग्जाइमा के मरीज

जयकिशन सैनी (ब्यूरो चीफ) समर इंडिया
सहसवान। सर्दियां बढ़ने के साथ ही हर उम्र के लोगों को त्वचा संबंधी रोग होने लगे हैं। इन दिनों डॉ रामनिवास गुप्ता अस्पताल में सोरायसिस और एग्जाइमा के रोगियों की भीड़ लग रही है। बताया जाता है कि सर्द हवाएं चलने से त्वचा शुष्क होने के चलते यह बीमारी बढ़ रही है। डॉ रामनिवास गुप्ता अस्पताल के होम्योपैथिक चिकित्सा कक्ष में भी अब ऐसे मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है।


बदलते मौसम में वायरल के साथ ही सोरायसिस और एग्जाइमा रोग लोगों को चपेट में लेने लगा है। सर्दियों में ठंडी हवाएं चलने से त्वचा शुष्क हो जाती है। इसके चलते शरीर में लाल चकत्ते पड़ने लगते हैं। इसके साथ ही शरीर में पानी की कमी, तेज गर्म पानी से नहाने और विटामिन डी की कमी से भी दाने हो जाते हैं। डॉक्टर अमोल गुप्ता ने बताया कि मौजूदा समय में एग्जाइमा और सोरायसिस के रोगी बहुत आ रहे हैं। इस बीमारी में बहुत तेज खुजली होती है। त्वचा मोटी होने लगती है, जो आगे पक जाती है। त्वचा में नमी कम होने से सफेद पपड़ी निकलने लगती है। ठंड में अगर यह जोड़ों तक फैल जाए तो सोरायटिक ऑर्थराइटिस (पीएसए) हो जाती है। यह इंफ्लेमेटरी आर्थराइटिस का एक प्रकार है, जिसकी वजह से उंगलियों, पैर के अंगूठों, घुटनों व पीठ में सूजन हो जाती है और उसके साथ जोड़ों में दर्द भी होता है और वो सख्त हो जाते हैं। ऐसे मरीजों को शरीर गर्म रखने की सलाह दी जाती है।

सही कपड़ों का करें चुनाव


सर्दियों में पहने जाने वाले गर्म कपड़े भी सोरायसिस को बढ़ा देते हैं। फिजीशियन डॉ. अमोल गुप्ता बताते हैं कि बाजार में सिंथेटिक, नॉयलान और पॉलिस्टर के जैकेट मिलते हैं, जो ठंड को तो दूर कर देते हैं, लेकिन इनमें मौजूद केमिकल सोरायसिस को बढ़ा देता है। ऐसे में कॉटन के कपड़ों का चुनाव किया जए।
ये रखें ध्यान

  • सूखी त्वचा पर नारियल का तेल या क्रीम लगाएं।
  • विटामिन डी की कमी पूरी करने के लिए धूप में कुछ देर बैठें।
  • पैरों में मोजे पहनकर रहें।
  • लाल चकत्तों को ज्यादा खुजाएं नहीं, इससे बीमारी बढ़ती है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper