उत्तर प्रदेशआपराध

छात्रा के बैग मे मोबाइल मिलने के कारण शिक्षिका ने छात्रा को जमकर पीटा, पिटाई से छात्रा हुई बेहोश, हायर सेंटर रैफर

छात्रा के बैग मे मोबाइल मिलने के कारण शिक्षिका ने छात्रा को जमकर पीटा, पिटाई से छात्रा हुई बेहोश, हायर सेंटर रैफर

छात्रा के पिता ने सीओ सिटी को पत्र देकर शिक्षिका के विरूद्ध अभियोग पंजीकृत कराए जाने की मांग की।

जयकिशन सैनी

बदायूं। राजाराम महिला इंटर कालेज में एक छात्रा के बैग में मोबाइल मिलने के बाद कालेज की शिक्षिका ने उसे इतना पीटा कि वह बेहोश होकर नीचे गिर गई। छात्रा के साथ हुई मारपीट की घटना की सूचना मिलने पर परिजन कालेज पहुंचे और उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल ले गए जहां से उसे बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर बरेली रैफर कर दिया गया है। छात्रा के पिता ने सीओ सिटी को पत्र देकर शिक्षिका के खिलाफ अभियोग पंजीकृत करने की मांग की है।

मामला कुंवरगांव थाना क्षेत्र के गांव हसनपुर निवासी खेमपाल कोटेदार की पुत्री प्रियंका शहर के राजाराम महिला इंटर कालेज में 12 वीं की छात्रा है, गांव से लगभग 12 किलोमीटर दूर पढ़ने जाती है इसलिए छात्रा के पिता ने अपनी पुत्री को सुरक्षा दृष्टि से मोबाइल दे रखा था। बताते हैं कि 8 सितंबर को 11 बजे विद्यालय की अध्यापिका चित्रा कुमारी ने छात्रा के पिता के मोबाइल पर फोन कर सूचना दी कि आप जल्दी विद्यालय आ जाऔ जरुरी काम है। जब छात्रा के पिता और मां दोनों विद्यालय पहुंचे तो छात्रा जमीन पर बेहोश पड़ी हुई थी जब पिता ने विद्यालय की प्रधानाध्यापिका व अध्यापिकाओं से कारण पूछा तो वह कुछ बताने को तैयार नहीं थे जहां खेमपाल ने छात्रा को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। शाम को होश आने पर उसने बताया कि मैडम ने उसके बैग में मोबाइल देख लिया जिस पर अध्यापिका चित्रा कुमारी ने मोबाइल छीन कर बुरी तरह मारना पीटना शुरू कर दिया छात्रा अध्यापिका से रो रोकर कहती रही कि यह मोबाइल उसे उसके मम्मी पापा ने लेकर दिया है आप उनसे बात करलो लेकिन अध्यापिका ने छात्रा को सिर के बल जमीन पर पटक दिया और तब तक मारती रही जब तक वह गंभीर रूप से घायल होकर बेहोश होकर जमीन पर न गिर पड़ी। बताते है कि छात्रा के पिता खेमपाल इसकी शिकायत करने कोतवाली पहुंचे तो कोतवाली पुलिस ने कोई कार्यवाही नहीं की जिसके बाद छात्रा के पिता ने सी.ओ सिटी आलोक मिश्रा को प्रार्थना पत्र देकर रिपोर्ट दर्ज कराकर कार्यवाही की मांग की है। छात्रा का बरेली निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper