पुलिस लाइन बहजोई में जिला जज एवं जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में किया गया परेड का आयोजन

जिले में हर्षोल्लास एंव धूम धाम से मनाया गया 73वां गणतन्त्र दिवस।*

कलेक्ट्रेट सभागार के प्रांगण में जिलाधिकारी ने किया ध्वजारोहण एवं संविधान की प्रस्तावना का दिलाया संकल्प।

पुलिस लाईन में जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने किया ध्वजारोहण और ली परेड की सलामी।

पुलिस लाइन में उत्कृष्ट कार्य करने वाले पुलिस के अधिकारियो, कर्मचारियों को भी किया गया सम्माानित।

बहजोई/संभल-कलेक्ट्रेट सभागार बहजोई में राष्ट्रीय पर्व गणतंत्र दिवस को बड़े ही धूमधाम से मनाया गया कार्यक्रम की शुरुआत ध्वजारोहण के साथ हुई एवं उपस्थित सभी लोगों ने राष्ट्रगान को गाया एंव संविधान में उल्लिखित प्रस्तावना का संकल्प लिया एवं मतदान संकल्प अधिकारियांे/कर्मचारियों को दिलवाया गया उसके बाद कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित गणतन्त्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में जिलाधिकारी श्री संजीव रंजन ने जनपद वासियों को गणतन्त्र दिवस पर्व पर बधाई देते हुये कहा कि देश को आजादी मिलने के दौरान वीर शहीदों ने जो सर्वोदय भारत की परिकल्पना की थी उस पर यदि भारतवर्ष के सभी नागरिक शतप्रतिशत अमल करले तो निश्चित ही यह देश विश्व के मानचित्र पर अपना परचम लहरायेगा। उन्होंने कहा कि आज ही के दिन अपने देश में लोकतन्त्र की व्यवस्था को लागू कर देश के हर नागरिक को स्वतन्त्र अधिकार दिये गये | संविधान की सबसे बड़ी विशेषता है समानता,संविधान ने लोगों को एक दिशा दी, उन्होंने कहा कि गणतंत्र की महत्वपूर्ण विशेषता होती है चुनाव उन्होंने जनपद के सभी लोगों को आहवान किया मतदान वाले दिन पूर्ण उत्साह के साथ अपने मत का प्रयोग करें ।


कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि मुख्य विकास अधिकारी उमेश कुमार त्यागी ने कहा कि संविधान में उल्लिखित संकल्प को हम लोग आत्मसात करके और आगे बढ़ सकते है जो भी अधिकारी/कर्मचारी जिस पटल पर तैनात व अपने दायित्वों का निर्वहन सेवा भाव के रूप में करके गरीब असहाय व्यक्तियों को सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से जोड कर उन्हे लाभान्वित करे ताकि उनके चेहरो पर भी मुस्कान लायी जा सके।
इस अवसर पर परियोजना निदेशक रमेश चंद्र ने अपने सम्बोधन में कहा कि गणतंत्र दिवस वीर सपूतों को याद करने का दिन है, जो कि हमारे लिए रात दिन एक करके हमें सुरक्षा का अहसास दिलाते है। देश की सुरक्षा की जिम्मेदारी सैनिकों के कन्धों पर है, इसलिए सैनिक या उनके आश्रितों की समस्याओं को गम्भीरता से सुनना चाहिए और उनका निराकरण भी प्राथमिकता के आधार पर करना चाहिए। गणतंत्र दिवस को पर्व की तरह मनाना चाहिए
जिला पंचायत राज अधिकारी जाहिद हुसैन ने कहा कि आज हम देश की 73वां गणतंत्र दिवस मना रहे है। हम सब अपने कार्यो का निर्वहन दायित्व बोध के रूप में करें और भारत को और विकसित बनाने में अपने सहभागिता निभाएं|
जिला समाज कल्याण अधिकारी शैलेंद्र गौतम ने कहा कि गणतन्त्र दिवस पर सभी लोगों को शुभकामनाएं और उन्होंने कहा कि हम भारत के वासी हैं हमारे क्रांतिकारियों ने हमारे देश को आजाद कराया हमें इस मौके पर उन्हें याद करना चाहिए एवं उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित करने चाहिए हमारे देश में आज भी गरीब असहाय लोग निवास करते हैं भारत सरकार एवं राज्य सरकार की लाभार्थी परख योजना के अंतर्गत उन लोगों को लाभान्वित भी करना चाहिए।


कलेक्ट्रेट में कार्यक्रम का संचालन चकबंदी लेखपाल सुखपाल गौर ने किया।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी उमेश कुमार त्यागी, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अभिनव गोपाल,जिला समाज कल्याण अधिकारी शैलेंद्र गौतम, जिला सूचना अधिकारी बृजेश कुमार ,जिला पंचायत राज अधिकारी जाहिद हुसैन, सहित कलेक्ट्रेट, के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे। इसी उपरांत पुलिस लाइन में
73वां गणतन्त्र दिवस जिले में हर्षोउल्लास एंव धूमधाम से मनाया गया।
जिले में गणतन्त्र दिवस पर मुख्य कार्यक्रम पुलिस लाइन मंडी समिति बहजोई में सम्पन्न हुआ। ध्वजारोहण, राष्ट्रगान, गार्ड की सलामी संविधान में उल्लिखित संकल्प स्मरण करने के बाद कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जिलाधिकारी संजीव रंजन एवं पुलिस अधीक्षक चक्रेश मिश्र पुलिस परेड का अवलोकन किया। परेड का नेतृत्व परेड कमाण्डर पुलिस क्षेत्राधिकारी चंदौसी ने किया, तथा परेड में अन्य टोली के अलावा हेल्पलाइन 112 को भी शामिल किया गया था।


जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि हमारी मातृभूमि कई वर्षों तक ब्रिटिश सरकार के अधीन रही है। उस समय अंग्रेजी हुकूमत ने भारतीय लोगों को जबरदस्ती अपने कानून का पालन करने को कहा और ना मानाने वालों के साथ अत्याचार भी किया। कई वर्षों के संघर्ष के बाद भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों की कड़ी मेहनत और जीवन न्योछावर करने के बाद भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली। स्वतंत्रता के ढाई वर्ष के बाद भारत सरकार ने स्वयं का संविधान लागू किया और भारत को एक प्रजातांत्रिक गणतंत्र घोषित किया। लगभग 2 वर्ष, 11 महीने और 18 दिन के बाद 26 जनवरी 1950 को भारत के संविधान को भारत की संविधान सभा में पारित किया गया। इस दिन के लिए हमारे देश के लाखों भाईयों-बहनों ने अन-गिनत कष्ट उठाये थे। और उनके अतुल्य बलिदानों के फलस्वरूप हम सब एक समप्रभुत्व राष्ट्र के नागरिक कहलाने का अधिकार प्राप्त कर सके। आज इस पुनीत अवसर पर उन शहीदों को नमन करते हुए उनके प्रति श्रृद्धांजलि अर्पित करता हूं। आज हम सब के द्वारा देश की सम्प्रभुता को अक्षुन्न बनाये रखने का संकल्प लिया गया। उन्होने कहा कि मेरा विश्वास है कि इस जनपद के नागरिक, संविधान तथा प्रदत्त मूल अधिकारों के प्रति सचेष्ठ रहने के साथ-साथ अपने कर्तव्य के प्रति जागरूक रहेंगे। तथा ऐसे किसी कृत्य में लिप्त नही होंगे जिससे राष्ट्र की एकता,

अखण्डता और गरिमा पर आंच आती है। उन्होने कहा कि जिलाधिकारी के पद पर मेरा यह दायित्व है कि जनपद में अमन-चैन बना रहे। विशेषकर निर्बल एवं असहाय लागों को कोई परेशान न कर सके। महिलाओं के प्रति घटनाओं पर प्रभावी नियंत्रण रखकर अंकुश लगाया जा सके। उन्होने कहा कि इसके अतिरिक्त सीमा क्षेत्र के थानों में तैनात पुलिस अधिकारी/कर्मचारी सजगता से अपनी ड्यूटी करते है। उन्होने जनपद वासियों से अपील करते हुए कहा कि अपरिचित तथा संदिग्ध व्यक्तियों पर नजर रखें और उनकी सूचना सम्बन्धित थानों पर अवश्य दें। जिससे किसी अराजक तत्व या कोई समस्या उत्पन्न न होने पाये।
उन्होने कहा कि लोकतंत्र की मजबूती के लिए सभी की भागीदारी अनिवार्य है। विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 के लिए 14 फरवरी, 2022 को जिले में मतदान होना है, उन्होने जनपद के मतदाताओं से अपील किया है कि चुनाव के दौरान वह अपने मताधिकार का प्रयोग अवश्य करें। उन्होने यह भी कहा कि कोविड-19 के नये वैरियंट का प्रसार भी तेजी से बढ़ रहा है, इसके बचाव के लिए जरूरी है कि सभी लोग टीकाकरण करायें और कोविड-19 प्रोटाकाल का पालन अवश्य करें। यदि हम सभी कोविड-19 प्रोटाकाल नियमों का पालन करते है तो न सिर्फ स्वयं को बल्कि अपने परिवार को कोरोना जैसी महामारी से बचा सकते है। उन्होने कहा कि कोरोना काल के दौरान हमारे राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य एवं अन्य विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों ने जो अपना योगदान दिया वो सराहनीय रहा है।


इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक चक्रेश मित्र ने गणमान्य नागरिकों, पुलिस के अधिकारी कर्मचारियों के साथ-साथ आमजन को संविधान एवं मतदान की शपथ दिलाई। उन्होने कार्यक्रम में पधारे अन्य अधिकारीगण एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारियों, विभिन्न विद्यालयों के अध्यापक/अध्यापिकाएं एवं छात्र/छात्राओं के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस अवसर जिला जज भानु देव शर्मा, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अभिनव गोपाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 अजय कुमार सक्सेना, सहित तमाम विभागों के जिलास्तरीय अधिकारीगण, थाना प्रभारीगण एवं पुलिस विभाग के अधिकारी/कर्मचारी, अध्यापक/ अध्यापिकाएंे, स्कूली बच्चों के साथ-साथ जन समुदाय उपस्थित रहा।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper