उत्तर प्रदेश

जिलाधिकारी  बालकृष्ण त्रिपाठी द्वारा तहसील हसनपर स्थिति वीजलपुर गौशला का निरीक्षण किया गया

जिलाधिकारी  बालकृष्ण त्रिपाठी द्वारा तहसील हसनपर स्थिति वीजलपुर गौशला का निरीक्षण किया गया । इस अवसर पर जिलाधिकारी ने खली चौकर भूसा की उपलब्धता गायों को काऊ कोट की व्यवस्था तथा ठंड के दृष्टिगत गौशाला को चारों ओर से ढकने की तिरपाल की व्यवस्था सहित विभिन्न बिंदुओं पर निरीक्षण किया । कमजोर पशु देखकर जिलाधिकारी भड़क गए और गौशाला संरक्षक को बुलाकर कड़ी फटकार लगाते हुए कठिन कार्यवाही करने की हिदायत दी ।

कहा कि जो पशु कमजोर हैं उन्हें अलग रखकर उन्हें विशेष व्यवस्था के तहत पोषण युक्त चारा उपलब्ध कराया जाए । कहा की गौशाला में भूसा के साथ-साथ पशुओं को हरा चारा और खली और चोकर मिला कर दिया जाना चाहिए निरीक्षण में केवल भूसा मिलने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की । उन्होंने संबंधित डॉक्टर को निर्देश देते हुए कहा कि बीमार पशुओं का इलाज प्राथमिकता के साथ किया जाना चाहिए पशुशाला में कोई भी पशु बीमार नहीं रहना चाहिए पशुओं को बेहतर तरीके से स्वास्थ्य चिकित्सा का लाभ दें समय समय पर आकर गौशाला का देख ले कि कोई भी पशु बीमार तो नहीं है ।

 

कहा कि गौशाला में किसी भी प्रकार की अव्यवस्था नहीं होनी चाहिए निर्देश देते हुए कहा कि ठंड के दृष्टिगत पशुओं की विशेष देखभाल किया जाए कोई भी पशु ठंड के अभाव में मरना नहीं चाहिए कहा कि प्रत्येक पशु को काऊ कोट की उपलब्धता हो । पूरे गौशाला को तिरपाल से ढक कर रखा जाए ताकि ठंड हवा गौशाला में प्रवेश न कर सके और गायें आराम से रह सके। कहा खली भूसा चोकर की उपलब्धता पर्याप्त होनी चाहिए। निरीक्षण में गौशाला में 59 पशु संरक्षित पाए गए

##############
वीजलपुर गौशाला का निरीक्षण करने के पूर्व जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी कार्यालय हसनपुर में ग्राम प्रधान सोहरका व दीप पुर को बुलाकर उप जिला अधिकारी हसनपुर क्षेत्राधिकारी हसनपुर अधिशासी अधिकारी हसनपुर अन्य संबंधित अधिकारियों की उपस्थित में छुट्टा पशुओं के संबंध में नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यदि कोई भी किसान अपना पशु छोड़ता है

तो यह आपकी जिम्मेदारी होगी कहा कि अपनी उपस्थिति में चिन्हाकन करा कर जिन किसानों द्वारा छुट्टा पशु छोड़े गए हैं उन किसानों को शीघ्र ही उनके पास उन्हें सुपुर्द किया जाए लौटाया जाय। अन्यथा जिन किसानों द्वारा पशुओं को छुट्टा किया गया है उन पर मुकदमा दर्ज करने के साथ-साथ आप पर मुकदमा दर्ज कर आपके ग्राम प्रधान खाते सीज कर दिया जाएगा और पशु क्रूरता अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा । निर्देश देते हुए कहा कि यदि कोई भी किसान जो टैगिंग पशुओं की की गई है यदि उसको हटाता है तो पशु क्रूरता अधिनियम के तहत गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया जाएगा ।

अधिशासी अधिकारी व सहायक विकास अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि ग्राम प्रधान से मिलकर जिन किसानों द्वारा अपने पशु छुट्टा किए गए हैं उनको उस किसान को चिन्हित कर उनके पशु वापस भेजा जाए । कोई भी किसान द्वारा यदि लेने से इनकार किया जाता है तो तत्काल संबंधित थाने में गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया जाए। कहा कि किसानों को नोटिस दिया जाए चिन्हित कर किसानों को छोड़े गए पशुलौटाया जाए यदि ग्राम प्रधान द्वारा इसमें सहयोग नहीं किया जाता ध्यान नहीं दिया जाता

और अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं किया जाता है तो उनके अधिकार सीज करने और मुकदमा दर्ज करने के लिए प्रस्ताव तैयार किया जाए । इस अवसर पर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी उपजिलाधिकारी हसनपर क्षेत्रा धिकारी हसनपर सहित अन्य संबंधित अधिकारी व पशुपालन विभाग के कर्मचारी डॉक्टर ग्राम प्रधान मौजूद रहे ।

AMAN KUMAR SIDDHU

Aman Kumar Siddhu Author at Samar India Media Group From Uttar Pradesh. Can be Reached at samarindia22@gmail.com.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

9 − 6 =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper