उत्तर प्रदेश में कनेक्टिविटी और डिजिटल अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज नोड्स

samar India

इंटरनेट कनेक्टिविटी और डिजिटल अर्थव्यवस्था को गति देते हुए, उत्तर प्रदेश में 23 दिसंबर को इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी और कौशल विकास और उद्यमिता राज्य मंत्री श्री राजीव चंद्रशेखर और राज्य के कानून और न्याय मंत्रीश्री एसपी सिंह बघेलद्वारा संयुक्त रूप से 7 नए इंटरनेट एक्सचेंज नोड्स शुरू किए जाएंगे।

ये नोड मेरठ, आगरा, कानपुर, लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और गोरखपुर में स्थित होंगे। मंत्री द्वारा इन सभी एक्सचेंज नोड्स को आगरा से शुरू करने की उम्मीद है, जबकि अन्य 6 स्थानों के लोग और गणमान्य व्यक्ति वर्चुअली उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे। अभी तक उत्तर प्रदेश में गौतमबुद्धनगर में केवल एक इंटरनेट एक्सचेंज नोड संचालित था। 7 नए ​​इंटरनेट एक्सचेंजों के साथ, राज्य में इंटरनेट पारिस्थितिकी तंत्र को और मजबूत किया जाएगा, जो लोगों के जीवन को बदलने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने में तेजी से कदम उठा रहा है।

इंटरनेट एक्सचेंज उपभोक्ताओं के लिए इंटरनेट प्रदर्शन और गति में सुधार करता है। कम लागत पर बेहतर लचीलापन, स्थिरता, दक्षता और इंटरनेट की गुणवत्ता सुनिश्चित करता है।

यह इंटरनेट पर अति सक्रिय हर व्यक्ति ( नेटीजन) को लाभान्वित करता है और अधिक इंटरनेट सेवा प्रदाताओं के आगमन को बढ़ावा देता है जिससे डिजिटल बाजार का विस्तार होता है। इंटरनेट एक्सचेंज की स्थापना सभी भारतीयों को खुले, सुरक्षित और विश्वसनीय इंटरनेट से जोड़ने के पीएम मोदी के डिजिटल इंडिया विजन का एक हिस्सा है।

श्री नरेन्‍द्र मोदी सरकार के तहत ब्रॉडबैंड उपयोगकर्ताओं की संख्या 250 मिलियन से बढ़कर लगभग 840 मिलियन हो गई है। डेटा खपत में 189 गुना (62.9 पेटा बाइट्स से 11924 पेटाबाइट्स) की वृद्धि देखी गई है।

सक्रिय और अनुकूल सरकारी नीतियों ने 2014 के बाद से पिछले 7 वर्षों में इंटरनेट सेवा प्रदाताओं को लगभग 221 से बढ़ाकर 1556 पर ला दिया है जो (7 गुना वृद्धि) ह‍ै।

नोएडा में मौजूदा इंटरनेट एक्सचेंज के अलावा 07 नए इंटरनेट एक्सचेंज प्वाइंट हासिल कर उत्‍तर प्रदेश इस दिशा में आगे बढ़ रहा है। इन एक्सचेंज पॉइंटों में उत्‍तर प्रदेश के सभी क्षेत्रशामिल हैं, इसलिए ब्रज क्षेत्र या बुंदेलखंड क्षेत्र के उपयोगकर्ता के पास महानगर के उपयोगकर्ता के समान उपयोगकर्ता अनुभव की इंटरनेट क्षमता होगी।

पिछले 19 महीनों में अर्थव्यवस्था के सभी क्षेत्रों में अभूतपूर्व डिजिटलीकरण हुआ है, जिससे डिजिटल उत्पादों और सेवाओं की मांग में वृद्धि हुई है। शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, वाणिज्य जैसी बहुत सी सेवाएं ऑनलाइन स्थानांतरित हो गई हैं और बहुत से पेशेवरों ने महामारी के दौरान घर से काम किया है। इंटरनेट लोगों से जुड़ने और सेवाओं तक पहुंचने का एकमात्र मंच था। 7 नए ​​इंटरनेट एक्सचेंजों का उद्घाटन यूपी के लोगों को उच्च गुणवत्ता वाले इंटरनेट का उपयोग करने में सक्षम बनाएगा।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper