सूर्य को अर्घ्य देकर संतान की लंबी उम्र की कामना की

सूर्य को अर्घ्य देकर संतान की लंबी उम्र की कामना की

धूमधाम से मनाया छठ पर्व, महिलाओं ने रखा निर्जल उपवास

समर इंडिया संवाददाता, ढवारसी

छठ पर्व धूमधाम से मनया गया। महिलाओं ने निर्जला उपवास रखा। दिन ढलने के बाद शाम को को उपवास रखने वाली महिलाओं ने डूबते सूर्य को अर्घ्य देकर अपनी संतान की दीर्घायु की कामना की। छठ पर्व प्रत्येक वर्ष कार्तिक शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को मनाया जाता है। मुख्य रूप से इस पर्व को बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में मनाया जाता है। इस पर्व में महिलाएं 36 घंटे निर्जल व्रत रख कर सूर्य देव और छठी मैया की पूजा करती हैं और उन्हें अर्घ्य दिया जाता है। मान्यता है छठ पूजा करने से हर मनोकामना पूर्ण होती हैं। खासकर इस व्रत को संतानों के लिए रखा जाता है। कहते हैं जो लोग संतान सुख से वंचित हैं उनके लिए ये व्रत वरदान साबित होता है।

Related Articles

Back to top button