इंसान की जान की कोई कीमत नहीं; मात्र चार हजार रुपये की खातिर मारूफ उर्फ राजा को उतार दिया मौत के घाट

इंसान की जान की कोई कीमत नहीं; मात्र चार हजार रुपये की खातिर मारूफ उर्फ राजा को उतार दिया मौत के घाट
मारूफ हत्याकांड,पुलिस ने किया बड़ा खुलासा ,दो लोग गिरफ्तार

बुलंदशहर: कृष्णा जी ब्यूरो चीफ

उत्तर प्रदेश
बुलन्दशहर में लगातार बढ़ रही हत्या की घटनाएं पुलिस के लिए बनी सर दर्द, जनपद बुलंदशहर में मात्र ₹4000 के लिए युवक को उतारा मौत के घाट उतार दिया था पुलिस ने दोनों हत्यारों को किया गिरफ्तार । बताते चलें कि कि जनपद बुलंदशहर की कोतवाली देहात पुलिस कोतवाली नगर एवं स्वाट टीम ने मारूफ उर्फ राजा हत्याकांड का किया खुलासा । जानकारी देते हुए बुलंदशहर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि थाना कोतवाली देहात क्षेत्र के गांव दोस्तपुर के जंगल में एक शव मिला था जिसकी पहचान मारूफ उर्फ राजा के नाम से हुई जिसमें हत्या में संलिप्त दो आरोपी जस्ट पुत्र मनोज कुमार निवासी नजमपुरा भूड़ जनपद बुलंदशहर तथा साकिब पुत्र हासिम निवासी ग्रीन पार्क कॉलोनी अकबरपुर थाना कोतवाली देहात जनपद बुलंदशहर को गिरफ्तार कर लिया गया है

पुलिस द्वारा जब पकड़े गए दोनों अभियुक्तों से गहनता से पूछताछ की गई तो पता चला कि मृतक मारूफ उर्फ राजा द्वारा करीब अब से छः माह पूर्व चार हजार रुपये साकिब से उधार लिए थे जिसके चलते साकिब ने कई बार अपने रुपए मृतक राजा से मांगे तो राजा द्वारा हर बार केवल साकिब को बहाने बाज़ी करता था जिसके चलते वह काफी नाराज था और उसने उसकी हत्या का षड्यंत्र रचा जिसमें अपने एक दोस्त यश को शामिल किया एवं राजा को दोस्तपुर के जंगल की तरफ बुलाया जिस पर मारूफ उर्फ राजा जोकि धमेड़ा अड्डा नई बस्ती थाना कोतवाली नगर का रहने वाला था जो कि ज्यादातर अपने मामा के घर पर रहता था

वह उन्हीं की स्कूटी लेकर और यश व शाकिब को अपने साथ लेकर चला गया वह तीनों एक ही स्कूटी पर सवार होकर दोस्तपुर की तरफ चल दिए जहां राजा ने अपने एक दोस्त से पैसे लेकर देने का वादा किया था लेकिन काफी देर तक जब राजा ने अपने किसी दोस्त से उन दोनों को नहीं मिल पाया और ना ही पैसे दिए तो साकिब परेशान हो गए और राजा की हत्या करने का मन बना लिया जिस पर साकिब ने सबसे पहले राजा की कमर में छुरा मारा फिर उसके गले पर एवं पेट में मार कर उसकी हत्या कर दी जिसके बाद शव को दोस्त पुर गांव के जंगल में ही छोड़कर वहां से फरार हो गए इस पूरे घटनाक्रम में हैरान कर देने वाली बात यह है कि गिरफ्तार दोनों अभियुक्तों द्वारा किसी भी प्रकार का कोई सुराग घटनास्थल पर नहीं छोड़ा गया लेकिन उसके बावजूद भी पुलिस द्वारा दोनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया।

Related Articles

Back to top button
E-Paper