चुनाव के लिए बना रहे थे| असलाह खरीददार बन पहुँच गई पुलिस|


दो आरोपी मौके से गिरफ्तार एक फरार|
पुलिस ने मौके से तमंचे व शस्त्र बनाने का सामान किया बरामद|

जयकिशन सैनी (ब्यूरो चीफ)
बदायूं| गंगा नदी की खादर में विधानसभा चुनाव के लिए अवैध तमंचे तैयार किए जा रहे थे। छह दिन पूर्व मिली सूचना पर अपराध नियंत्रण विशेष टीम ने सहसवान पुलिस के साथ मिलकर जाल बिछाया। सोमवार रात विशेष टीम खरीदार बनकर खादर पहुंची और मौके से दो आरोपितों को गिरफ्तार किया। एक आरोपित फरार हो गया। पुलिस ने मौके से तमंचे व शस्त्र बनाने का सामान बरामद किया है।


एसएसपी डा.ओपी सिंह ने बताया कि अपराध नियंत्रण टीम को सूचना मिली थी कि सहसवान के खादर क्षेत्र में कुछ लोग अवैध असलाह बनाने की फैक्ट्री संचालित कर रहे हैं। इस पर सहसवान पुलिस के साथ मिलकर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए प्लान तैयार किया। इसमें असलाह बेचने वाले एक व्यक्ति को भरोसे में लेने के बाद टीम के सदस्य ग्राहक बनकर फैक्ट्री तक पहुंचे। कई बार सौदेबाजी हुई और बड़ी खेप मांगी। असलाह बनाने वालों को विश्वास में लेने के बाद सोमवार देर शाम टीम खादर पहुंची। वहां बड़ी संख्या में असलाह तैयार देख सहसवान पुलिस को बुलाया। पुलिस देख आरोपितों ने भागने का प्रयास किया लेकिन पुलिस ने दो को पकड़ लिया, एक भागने में सफल रहा। पूछताछ में आरोपितों ने अपने नाम सहसवान थाना के गांव वसौलिया निवासी यामीन और कोल्हार निवासी गेंदनलाल बताया, जबकि फरार साथी का नाम वसौलिया निवासी कामिल बताया है। एसएसपी ने इस राजफाश के लिए विशेष टीम और सहसवान पुलिस को पंद्रह हजार का इनाम दिया है। आरोपितों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई करने के भी आदेश दिए हैं। दिल्ली व एनसीआर के जिलों में भी सप्लाई विशेष टीम के प्रभारी देवेंद्र सिंह व कांस्टेबल पुष्पेंद्र कुमार ने बताया कि यामीन, गेंदनलाल और कामिल तीनों ही तमंचे बनाने के माहिर हैं। इनके अन्य एजेंट तमंचा सप्लाई करने और आर्डर लाने का काम करते हैं। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि वह 315, 312, अधिया तक बनाते हैं। उनकी तमंचों की सप्लाई दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, हरियाणा, बिजनौर समेत एनसीआर के अन्य जिलों में भी है।


विशेष टीम प्रभारी ने बताया कि अब एजेंटों की भी तलाश की जा रही है। विस चुनाव में खपाने की थी योजना
एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा ने बताया कि आरोपितों ने बताया कि चुनाव के समय अवैध असलाहों की विशेष डिमांड रहती है। इसके चलते ही तैयारी शुरू कर दी थी। पुलिस ने दस तैयार तमंचों के अलावा तमंचे बनाने में उपयोग की जाने वाली लोहे की कई नाल, एक ड्रिल मशीन, सिलिडर, रेती चौड़ी, रेती तिकोनी, एक सडासी सादा, सडासी गोल, दो सुभी, तीन छैनी, दो हथौड़ी, एक पत्ती टेढ़ी, समेत अन्य कई सामग्री बरामद की है।

Related Articles

Back to top button
E-Paper