उत्तर प्रदेश को नम्बर वन प्रदेश बनाना हमारा संकल्प : मुख्यमंत्री

गंगा जी को निर्मल व अविरल बनाने के साथ कानपुर नगर में फिर से नये-नये उद्योग स्थापित किये जा रहे : CM

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव में 81.89 करोड़ रुपए लागत की कुल 46 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी), प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण), मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना बीमा योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, आयुष्मान भारत योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना सहित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित कर लाभान्वित किया। मुख्यमंत्री ने पं0 दीनदयाल उपाध्याय ‘दृष्टि एक दर्शन’ पुस्तक का विमोचन भी किया। कार्यक्रम के दौरान विभिन्न विभागों के प्रदर्शनी स्टॉल तथा सूचना विभाग द्वारा एल0ई0डी0 वैन, होर्डिंग व स्टैंडी आदि लगाए गये।

इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्य धरातल पर दिखायी दे रहे हैं। आज उन्नाव में एक साथ 81.89 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास सम्पन्न हुआ है। यह परियोजनाएं विधानसभा क्षेत्र बांगरमऊ, उन्नाव, मोहान, भगवंतनगर, पुरवा तथा सफीपुर से सम्बन्धित हैं। यह विकास परियोजनाएं जनपदवासियों के जीवन में सुधार व समृद्धि लाएंगी। विकास ही प्रगति और समृद्धि का माध्यम बनेगा, जिससे जनपद उन्नाव के लोगों के जीवन स्तर में सुधार होगा। उन्होंने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया गया है, उनका निर्माण गुणवत्तापूर्ण व समयबद्ध ढंग से किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा की जनपद उन्नाव की धरती क्रांतिकारियों एवं साहित्यकारों की धरती रही है। आम नागरिक सुविधाओं के लिए जनपद उन्नाव में विशेष विकास परियोजनाओं के कार्य कराए गए हैं, जिसमें बिजली, पानी, सड़क सम्बन्धी कार्य प्रमुख हैं। वर्तमान सरकार के कार्यकाल में सड़कों का तेजी से चौड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण का कार्य किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा सरकार किसानों, नौजवानों सहित समाज के प्रत्येक वर्ग के साथ है। किसानों के खाते में किसान सम्मान निधि सीधे डी0बी0टी0 के माध्यम से भेजी जा रही है। इससे किसान खुशहाल हुआ है। आयुष्मान भारत योजना के तहत हर गरीब को 05 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर के साथ उपचार दिया जा रहा है। मिशन रोजगार के अंतर्गत प्रदेश सरकार ने विगत साढ़े चार वर्षांे में साढ़े चार लाख युवाओं को सरकारी नौकरी देने का सराहनीय कार्य किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार की भ्रष्टाचार एवं अपराध के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति है। कानून के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की गई है। सार्वजनिक सम्पत्ति को क्षति पहुंचाने वालों, गरीबों, कमजोरों को सताने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जा रही है। प्रदेश सरकार महिला सम्मान, सुरक्षा व स्वावलम्बन के लिये प्रतिबद्ध है। राज्य में बहन-बेटियों की सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त है। वे भयमुक्त होकर अपना जीवनयापन कर रही हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं के आत्म-सम्मान के लिए मिशन शक्ति, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना आदि योजनाएं संचालित जा रही हैं। प्रदेश में पुलिस भर्ती में महिलाओं को 20 प्रतिशत आरक्षण का अवसर दिया गया है। आज प्रदेश में 30 हजार महिला पुलिसकर्मी बालिकाओं और महिलाओं की सुरक्षा के लिए अपनी सेवाएं दे रही हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वृद्धजनों, निराश्रित महिलाओं, दिव्यांगजनों को पेंशन की राशि सीधे लाभार्थियों के खाते में भेजी जा रही है, बिचौलियों से मुक्ति मिली है। केन्द्र तथा प्रदेश सरकार ने कोरोना काल में जरूरतमन्दों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराने की व्यवस्था की है। प्रदेश सरकार लोक कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से जनता को लाभान्वित करने का कार्य रही है। उन्होंने कहा कि जनपद उन्नाव विकास के क्षेत्र में नयी पहचान के साथ उभर रहा है। सभी जनप्रतिनिधिगण शासन-प्रशासन के साथ समन्वय कर शासकीय योजनाओं को घर-घर पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं, जिससे जनपद में सुख व समृद्धि का मार्ग प्रशस्त हो रहा है।

       मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र व प्रदेश सरकार किसानों के हितों व कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है। राज्य सरकार ने कोरोना महामारी के बावजूद प्रदेश की सभी चीनी मिलों को चालू रखा। वर्ष 2017 से अब तक किसानों का साढ़े चार वर्ष में 01 लाख 44 हजार करोड़ रुपए का गन्ने का भुगतान किया गया है। प्रदेश सरकार ने किसानों को खुशहाल करने के लिए किसानों की आय को दोगुना करने के लिए किसानों के गन्ना मूल्य को 325 रुपये से बढ़ाकर 350 रुपये प्रति कुन्तल किया है। गन्ना मूल्य को बढ़ाने के साथ-साथ प्रदेश सरकार किसानों के हित व कल्याण के लिए निरन्तर गम्भीरता से कार्य कर रही है। प्रदेश के किसान के चेहरे पर मुस्कान है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने 86 लाख लघु एवं सीमान्त किसानों का 36,000 करोड़ रुपए का फसली ऋण माफ किया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों के खाते में 6,000 रुपए की धनराशि प्रतिवर्ष डी0बी0टी0 के माध्यम से अन्तरित की जा रही है। प्रदेश सरकार ने क्रय केन्द्र स्थापित कर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों की उपज क्रय का कार्य किया है। महिलाओं, गरीबों, मजदूरों, शोषित को बिना भेदभाव के कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। राज्य सरकार ने 15 करोड़ पात्र व्यक्तियों को निःशुल्क राशन, 01 करोड़ 56 लाख को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन, 02 करोड़ 61 लाख निःशुल्क शौचालय बनवाने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायतों मे ग्राम सचिवालय की स्थापना कर प्रत्येक ग्राम पंचायत में कम्प्यूटर सहायक की भर्ती कर, बैंकिंग सुविधाओं का लाभ उपलब्ध कराने, योजनाओं की फीडिंग का कार्य ग्राम स्तर पर किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विभिन्न सांस्कृतिक स्थलों का सौन्दर्यीकरण किया जा रहा है। जनपद उन्नाव पर्यटन एवं विकास की ओर अग्रसर हो रहा है। केन्द्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ के मंत्र पर कार्य करते हुए सभी को लाभान्वित किया जा रहा है। प्रत्येक पात्र व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचाया जा रहा है। देश ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ बनने की तरफ अग्रसर है। आधारभूत संरचना के क्षेत्र में अनेक नए कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं। उन्हांेने कहा कि उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर चलकर देश की आर्थिक ताकत बनेगा। केन्द्र व प्रदेश सरकार गरीबों एवं असहाय लोगों के हितों के लिए दिन-रात कार्य कर रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वैक्सीनेशन का कार्य एवं टेस्टिंग का कार्य पूरी तत्परता के साथ कराया जा रहा है। कोरोना के दृष्टिगत हम सभी को जीवन एवं जीविका का विशेष ध्यान रखकर ही कार्य करने होंगे। हम सभी को सुशासन एवं विकास के प्रति समर्पित भाव से कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा उत्तर प्रदेश को नम्बर वन प्रदेश बनाना हमारा संकल्प है।

इस अवसर पर अध्यक्ष विधानसभा श्री हृदय नारायण दीक्षित, जल शक्ति मंत्री डॉ0 महेंद्र सिंह, विधान परिषद सदस्य श्री स्वतंत्र देव सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Related Articles

Back to top button
E-Paper