देवभूमि (उत्तराखंड)

सीएम धामी ने किया जोशीमठ का दौरा, कहीं ये बात

CM Dhami visited Joshimath, somewhere this thing

हाल ही सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे आपको बतादें सीएम पुष्कर सिंह धामी ने बुधवार को जोशीमठ का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने प्रभावित परिवारों से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि इन परिवारों को राहत दिलाना सरकार की प्राथमिकता है. धामी ने अंतरिम सहायता का भी ऐलान किया.

इतना ही नहीं जोशीमठ में स्थानीय लोग मुआवजे की मांग को लेकर लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. इसके चलते यहां मकान-होटल गिराने की कार्रवाई शुरू नहीं हो सकी. जोशीमठ में भू धंसाव की त्रासदी को लेकर जनता से लेकर सरकार तक टेंशन में है. उधर, जोशीमठ में खराब होते मौसम ने सबकी चिंता को और बढ़ा दिया है. जोशीमठ में दरार और घंसाव के शिकार होटल का डिमोलिशन होगा या नहीं इस पर सस्पेंस बना हुआ है.

वहीँ दूसरी और होटल मलारी इन को गिराने का काम कल शुरू होना था लेकिन मुआवजे पर लोगों के विरोध की वजह से ये काम शुरू हो नहीं हो पाया. लोगों के गुस्से के बीच कल रात सीएम पुष्कर सिंह धामी जोशीमठ के उस रिलीफ कैंप में पहुंचे, जहां प्रभावित परिवार के लोग हैं. धामी ने साफ कर दिया, अभी सिर्फ होटलों की इमारत को ढहाया जाएगा, न की असुरक्षित घरों को. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी जोशीमठ को लेकर आज गृह मंत्रालय में बड़ी बैठक बुलाई है.

आज हो सकता है गृह मंत्रालय में बैठक का आयोजन

आपको बतादे कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज जोशीमठ त्रासदी पर बड़ी बैठक बुलाई है. यह बैठक गृह मंत्रालय में होगी. बैठक में एनडीआरएफ, गृह सचिव और इससे जुड़े कई अधिकारी शामिल होंगे. सीएम हाई लेवल मीटिंग से पहले नरसिंह मंदिर में की पूजा उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने गुरुवार सुबह जोशीमठ के नरसिंह मंदिर में पूजा अर्चना की.

आपको बताते चले कि इसी संकट को लेकर आज मुख्यमंत्री एक हाई लेवल बैठक करने वाले हैं. इससे पहले जोशीमठ के मशहूर नरसिंह मंदिर में वह प्रार्थना करने पहुंचे.

प्रभावित लोगों को अंतरिम सहायता

आपको बतादें कि सीएम धामी ने बताया कि प्रभावित लोगों को अंतरिम सहायता के तौर पर 1.5 लाख रुपए दिए जा रहे हैं. इसके साथ ही उनके राहत और उन्हें सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किए जाने का काम किया जा रहा है. चमोली के जिलाधिकारी हिमांशु खुराना की अध्यक्षता में 19 सदस्यों की टीम का गठन किया गया है.

अभी नहीं गिराए जाएंगे घर

वहीँ दूसरी ओर पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि ऐसी धारणा बनाई जा रही है कि पूरा उत्तराखंड खतरे में है, जो सही नहीं है. ऐसी धारणा नहीं बनानी चाहिए. फरवरी में औली में इंटरनेशनल विंटर गेम होने हैं. कुछ महीनों में चार धाम यात्रा भी शुरू होगी. ऐसे में इस तरह की गलत धारणा नहीं बनानी चाहिए. धामी ने साफ कर दिया कि अभी सिर्फ दो होटलों को ध्वस्त किया जा रहा है न कि असुरक्षित घरों को.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

nine − two =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper