सोशल डिस्टेंस रखते हुए मनाया गया गणतंत्र दिवस

फ़रीद अंसारी

कांठ । तहसील कांठ क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले प्रसिद्ध स्कूलों में सब से अलग पहचान रखने वाले दि मिल्लत स्कूल के स्टाफ ने
इस बार भी सरकार के आदेशानुसार एवं सोशल डिस्टेंस का ध्यान रखते हुए गणतंत्र दिवस मनाया जिस में स्कूल का समस्त स्टाफ मौजूद रहा एवं परम्परागत तऱीके से प्रधानचार्य पीयूष भारद्वाज ने ध्वज फहराया तथा बाद में अपने सम्बोधन में बताया कि आज हमारे देश के लिए खुशी का दिन है क्योंकि आज़ादी के बाद 26 नवम्बर 1949 को संविधान सभा ने संविधान अपनाया था , वहीं 26 जनवरी 1950 को संविधान को लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ लागू किया था तथा इसी दिन भारत को पूर्ण गणतंत्र घोषित किया था । अध्यापिका अनीता बंसल ने कहा कि मुझे गर्व है कि मैं गणतंत्र भारत की बेटी हूँ ओर स्वतंत्र भारत में जन्म लिया यदि ऐसा नही होता तो शायद हम युवतियों को शिक्षा का अधिकार भी नही मिलता ,

आयुषी चौधरी ने कहा कि मैं हमारे भारत का संविधान लिखने वाले श्री भीमराव अम्बेडकर को सेल्यूट करती हूँ कि उन्होंने आज से सालों पहले भारत के हालात को ध्यान में रखते हुए हमें हमारा हक दिलाने के उद्देश्य से बेहतर संविधान की रचना की । स्कूल स्टाफ से मौलाना अब्दुल वहाब ने नज़म पेश की तो मिस्बाह एवं पूनम सैनी ने देशभक्ति गीत सुनाए , मूलरूप से नैनीताल निवासी एवं दि मिल्लत स्कूल में कार्यरत राधा ने बताया कि अगर हमें आज़ादी न मिली होती तथा हमारा देश गणतंत्र न होता तो शायद आज मैं नैनीताल की होने के बाद भी दि मिल्लत स्कूल की अध्यापिका न होती उन्हीने कहा कि आज भी मेरे मन में एक गीत , ऐ वतन वतन मेरे आबाद रहे तू , मैं जहाँ रहूँ जहाँ में याद रहे तू , गूँजता रहता है । स्कूल में तिरंगा फहराने के समय सलमान शकील , फ़रीद अंसारी , हुमैरा परवीन , शेहला अंसारी , राबिया परवीन , प्रधुमन

, कोमल देवी , खातून निसार , सुरेश कुमार , रहीमुद्दीन , अभिषेक कुमार आदि मौजूद रहे ।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper