अधिकारियों ने उम्मीदवारों को सूचना दिए बगैर ही राशन की दुकान का प्रस्ताव एक तरफा किया| ग्रामीणों में भारी रोष|


ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर मामले से कराया अवगत|

जयकिशन सैनी (ब्यूरो चीफ)
बिनावर| बदायूं विकासखंड सलारपुर की ग्राम पंचायत बिछुरैया में दिन शुक्रवार को राशन की दुकान का प्रस्ताव के लिए तारीख नियत रखी गई थी। इस दौरान नोडल अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी गांव में पहुंचे। प्रस्ताव बिछुरैया के मझरा शेरगंज के पंचायत घर में होना था। लेकिन नोडल अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी ने पंचायत घर पर न जाकर ब्रजपाल पुत्र ओमपाल के घर पर गए। और बिना गांव में मुनादी किए हुए अन्य उम्मीदवारों को सूचना दिए बगैर उनके घर पर ही बैठकर उनके ही पक्ष में राशन की दुकान का प्रस्ताव एक तरफा कर दिया। जब तक अन्य उम्मीदवार अपने-अपने समर्थकों को अपने साथ लेकर पंचायत घर पर पहुंचे। तब तक नोडल अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी जा चुके थे| जबकि राशन की दुकान के प्रस्ताव का समय उम्मीदवारों व ग्रामीणों को 1 बजे का दिया गया था।


इस दौरान उम्मीदवारों व ग्रामीणों का आरोप है| कि नोडल अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी की बृजपाल से पहले से ही सांठगांठ थी| तथा पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत यह प्रस्ताव अल्प समय में अन्य उम्मीदवार व ग्रामीणों को बिना सूचना दिए पारित किया गया है। इस प्रस्ताव के पारित होने से आम जन मानस में व्यवस्था के प्रति संशय फैला हुआ है| तथा यह उनकी भावनाओं का अपमान भी है।


इस दौरान उम्मीदवार व ग्रामीणों ने जिलाधिकारी बदायूं दीपा रंजन को शिकायती प्रार्थना पत्र दिया है। जिसमें ग्रामीणों ने कहा है| कि दिन शुक्रवार को बृजपाल के पक्ष में किया गया राशन की दुकान का प्रस्ताव तत्काल प्रभाव से निरस्त किया जाए। क्योंकि बृजपाल का सगा चचेरा भाई गजेंद्र पुत्र नरेश गांव का प्रधान है| तथा उसकी ब्लॉक के अधिकारियों से मिलीभगत रहती है।
इस मौके पर ग्रामीणों ने डीएम दीपा रंजन से शुक्रवार को ब्रजपाल पुत्र ओमपाल के पक्ष में किया गया प्रस्ताव निरस्त करने व राशन की दुकान की प्रस्ताव की नई तिथि घोषित करने एवं नोडल अधिकारी व ग्राम विकास अधिकारी के विरुद्ध जांच कराकर कार्रवाई करने की मांग की है।
इस मौके पर शिकायतकर्ता- राजेंद्र, प्रेम, पप्पू, मुजाहिद, छोटेलाल, बड़े लल्ला, हरिओम, नंदन, दिनेश, रामचरन, भूदेव, अनोखेलाल, अफजाल, अतीक, वीरभान राजपूत, मीलाल, सूरजपाल, धीरपाल, सूरजपाल, पप्पू मौर्य, जीतू, अनीश समेत आदि ग्रामीण मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper