जम्मू-कश्मीर में ग़जरौला के सैन्यकर्मी की गोली लगने से संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

जम्मू-कश्मीर में ग़जरौला के सैन्यकर्मी की गोली लगने से संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

गजरौला समर इंडिया भरत सिंह

परिवार का दावा : आतंकी हमले में हुए शहीद, खुद को गोली मारने की चर्च

अमरोहा : जम्मू-कश्मीर में गजरौला के रहने वाले आर्मी जवान की गोली लगने से संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना की जानकारी मिलते ही इलाके में शोक की लहर दौड़ गई। एकाएक करते हुए शहीद हुए जवान के घर पर लोगों का तांता लग गया। स्वजन का रो रो कर बुरा हाल है।

गजरौला के गांव वारसाबाद निवासी रामपाल सिंह का 30 वर्षीय पुत्र तेजपाल वर्ष 2015 में आर्मी में कांस्टेबल के पद पर भर्ती हुआ था। इन दिनों उसकी ड्यूटी जम्मू-कश्मीर के रामबन जिले के बनिहाल में चल रही थी। मंगलवार की शाम वहां पर जवान तेजपाल की कनपटी के पास गोली लगने से संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। इस घटना की जानकारी आर्मी मुख्यालय से जवान के छोटे भाई सतवीर को फोन पर मिली तो चित्कार मच गया। इसके बाद स्वजन जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना हो गए। उधर बुधवार को दिन निकलते ही जवान के घर पर आसपास के लोगों का तांता लग गया। जवान के भाई सुरेंद्र ने बताया कि मंगलवार की शाम आतंकी हमले में उसके शहीद होने की जानकारी प्राप्त हुई थी। इसके बाद घर के लोग वहां के लिए रवाना हो गए। शाम तक शहीद का पार्थिव शरीर गांव पहुंचेगा। उधर, चर्चा है कि जवान ने खुद को अपनी सर्विस रिवाल्वर से गोली मारी है।

एक साल पूर्व हुई थी जवान की शादीी

ग़जरौला : जवान तेजपाल की शादी एक साल पूर्व हुई थी। अभी ठीक से वैवाहिक जीवन की शुरुआत भी नहीं हुई थी कि अब जवान की मौत से बुरा हाल है। वह शादी के बाद बिताए पलों को याद करते हुए दहाड़ मार-मारकर विलाप कर रही है।

बेटा पैदा होने पर दो माह की छुट्टी पर आए थे तेजपाल
ग़जरौला : लगभग दो माह पूर्व जवान तेजपाल दो महीने की छुट्टी लेकर अपने घर आए थे। उस समय उनके यहां बेटा पैदा हुआ था। लगभग दो माह के बेटे युवी को देखकर हर किसी की आंख नम है। हर कोई

Related Articles

Back to top button
E-Paper