देवभूमि (उत्तराखंड)

जारी है जोशीमठ में होटल को गिराने की कार्रवाई

Action is going on to demolish the hotel in Joshimath

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक बड़ी खबर सामने आ रही है जिसमे आपको बतादें कि जोशीमठ में भू धंसाव की त्रासदी को लेकर जनता से लेकर सरकार तक टेंशन में है. उधर, जोशीमठ में खराब होते मौसम ने सबकी चिंता को और बढ़ा दिया है. इस बीच वहां होटल को गिराने का काम शुरू हो गया है. इससे पहले मुआवजे पर लोगों के विरोध की वजह से ये काम शुरू हो नहीं हो पाया था.

इतना ही नहीं लोगों के गुस्से के बीच कल रात सीएम पुष्कर सिंह धामी जोशीमठ के उस रिलीफ कैंप में पहुंचे, जहां प्रभावित परिवार के लोग हैं. धामी ने साफ कर दिया, अभी सिर्फ होटलों की इमारत को ढहाया जाएगा, न की असुरक्षित घरों को. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी जोशीमठ को लेकर आज गृह मंत्रालय में बड़ी बैठक बुलाई है.

होटल तोड़ने का काम जारी

आपको बताते चले कि मलारी इन होटल को गिराने का काम शुरू हो गया है. ये होटल कुल मिलाकर सात मंजिल है. यहां SDRF और NDRF के लोग पहुंच गए हैं. इसके अलावा पुलिस भी वहां मौजूद है. होटल का सबसे ऊपर का हिस्सा पहले तोड़ा जाएगा. इसके लिए मजदूर टायर लेकर पहुंचे हैं. इन टायरों पर मलबा गिराया जाएगा ताकि मलबा गिरने पर कोई कंपन ना हो.

कब तक गिर जाएगा होटल?

आपको बताते चले कि धंसते जोशीमठ में सबसे पहले दो होटलों को गिराया जाएगा. इसमें मलारी इन और होटल माउंट व्यू शामिल है. अब मलारी इन को गिराने का काम शुरू हुआ है. लेकिन इसको गिराने में हफ्ते भर का वक्त लग सकता है. आज सबसे पहले होटल के पास से कीमती सामान हटाया गया है. होटल के पास के जेनरेटर को क्रेन के जरिए वहां से निकाला गया.

मुख्यमंत्री धामी के खिलाफ नारेबाजी

आपको बताते चले कि सीएम पुष्कर सिंह धामी बुधवार को जोशीमठ आए थे. रात को वह वहीं रुके. लेकिन गुरुवार को जब वह वापस जाने लगे तो उनके खिलाफ नारेबाजी हुई. लोगों ने धामी सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाए. सुनील वार्ड में प्रदर्शन कर रही महिलाओं ने नारेबाजी की. उनका कहना था कि वे सुबह तक इंतजार करती रहीं लेकिन सीएम धामी उनसे मिलने नहीं आए.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

8 + nineteen =

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper