समर इंडिया । SAMAR INDIA

त्वचा को चमकदार बनाने के लिए अपनायें होमियोपैथी : डॉ अमोल गुप्ता

by Jay Kishan Saini
0 comment

सहसवान| ऐसा अक्सर कहा जाता है की फर्स्ट इम्परेशन इस लास्ट इम्परेशन यह सही भी है क्योंकि इंसान का व्यक्तित्व ही सब कुछ बता देता है और हम ये बात सब जानते हैं कि स्वस्थ और चमकती हुई त्वचा अक्सर पूरे शरीर के स्वास्थ्य का एक दर्पण होती है त्वचा की समस्याएं अक्सर आंतरिक स्वास्थ्य समस्याओं के कारण ही होती हैं जो किसी व्यक्ति के समग्र स्वास्थ्य को पूरी तरह प्रतिबिंबित करती हैं त्वचा की समस्याएं आमतौर पर एलर्जी के कारण या हार्मोन में असंतुलन हो जाने से या कुपोषण अथवा निर्जलीकरण के कारण ही होते हैं एलोपैथी चिकित्सा में, त्वचा की समस्याओं के इलाज के लिए, ज्यादातर स्टेरॉइड क्रीम का ही उपयोग किया जाता हैl होम्योपैथी स्टेरॉइड क्रीम के इलाज को गलत नहीं समझता लेकिन इन क्रीम से त्वचा पर तत्काल असर हो सकता हैं, हमेशा के लिए समाधान नहीं हो सकता जबकि होम्योपैथी रोग के जड़ को हीं ख़त्म कर देती है जिससे उस रोग के दुबारा पनपने की संभावना बहुत कम रहती हैं एलोपैथी चिकित्सा में रोग दब जाता है जो शरीर में अन्य विकार पैदा कर सकता हैं होम्योपैथी से हर रोग जड़ से खत्म हो जाता हैं और ना ही होम्योपैथी का कोई साइड इफेक्ट है।

डॉ राम निवास गुप्ता हॉस्पिटल के होमियोपैथिक चिकित्सक व त्वचा एवं सौंदर्य रोग विशेषज्ञ डॉ अमोल गुप्ता के अनुसार होम्योपैथी चिकित्सा में पूरे लक्षण और पूरी हिस्ट्री तैयार कर ही ईलाज शुरु किया जाता है जिससे की शरीर का पूरा तंत्र संतुलित रूप में काम करने लगे। होम्योपैथी मुंहासे, एक्जिमा, घावों, हाइव्स, सोरियासिस, चकत्ते, दाद इत्यादि  त्वचा की बीमारियों को ठीक करने में बहुत ही प्रभावकारी है होम्योपैथिक उपचार से आप स्वस्थ और तेजपूर्ण त्वचा पा सकते हैं। एंटीमोनिअम टरटारिकम, बेलाडोना, केलकेरिया कार्बोनिका, हेपर सल्फ, पल्सेटिला, सीलीसिया, सल्फर इत्यादि कुछ ऐसे होम्योपैथिक उपचार हैं जो मुंहासे के इलाज में बहुत हीं उपयोगी होते हैं। इनमें से प्रत्येक मुंहासे के उपचार के लिए विभिन्न कारणों से उपयोगी माने गए है।जीर्ण एवं एलर्जी के प्रति सवेदनशील त्वचा के उपचार के लिए कई होम्योपैथिक औषधियां प्रभावी एवं कारगर साबित होती है। आउरम  ट्राईफाइलम, आरसेनिक्म एल्बम, ग्रेफाईट्स, मेंजेरिअम, पेट्रोलियम, और रस टोक्सीकोडेनड्रोन एक्जिमा में आमतौर पर उपचार के रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं इनमें से प्रत्येक औषधि एक्जिमा के विभिन्न लक्षणों में उपचार के रूप में कारगर सिद्ध होती हैं। अन्य होम्योपैथिक औषधियां जो एक्जिमा के उपचार के लिए प्रभावी हो सकती हैं वे एंटीमोनिअम क्रूडम, केलकेरिया कार्बोनिका , हेपर सल्फ्यूरिस केलकेरिअम और सल्फर इत्यादि हैं।होम्योपैथिक चिकित्सक से परामर्श लेकर ही आप पूरा ईलाज लें।

समर इण्डिया ब्यूरो चीफ – जयकिशन सैनी

0 comment

You may also like

Leave a Comment