समर इंडिया । SAMAR INDIA

नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान ने शपथ ग्रहण करने के उपरांत अस्थाई गौशाला में पल रहे गोवंश पशुओ को बाहर का रास्ता दिखाया| क्षेत्र में व्यापक चर्चा|

by Jay Kishan Saini
0 comment

सहसवान| जनप्रतिनिधि चुनने के बाद क्षेत्र की जनता को मिष्ठान उपहार इत्यादि सामान भेंट करने की खबरें तो आती रहती हैं परंतु किसी जनप्रतिनिधि द्वारा शपथ ग्रहण करने के उपरांत अस्थाई गौशाला में  पल रही दो दर्जन से ज्यादा गोवंश पशुओं को शपथ ग्रहण करने के उपरांत अस्थाई गौशाला से बाहर का रास्ता दिखा दिया जिसकी क्षेत्र में व्यापक चर्चा है।

 ऐसा ही एक मामला विकासखंड  दहगवां क्षेत्र के ग्राम पंचायत नाधा का हैं जहाँ नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान ने शपथ ग्रहण करने के उपरांत अस्थाई गौशाला में चल रही 3 दर्जन से ज्यादा गोवंश  पशुओं को अस्थाई गौशाला से रिहा कर दिया अस्थाई गौशाला से रिहा किए गए गोवंश  पशुओं जंगल में खेतों में खरबूज तरबूज की फसल नष्ट करना जब प्रारंभ कर दी तब मामले की जानकारी ग्रामीणों द्वारा उच्च अधिकारियों को दी गई जिस पर पशु चिकित्साधिकारी दहगवां को उच्च अधिकारियों ने मामले की जांच करने के आदेश दिए जिस पर जांच अधिकारी जब मौके पर पहुंचे तो मामला सही निकला जब इस जांच करने वाली टीम ने ग्रामीणों से बात की तो ग्रामीणों ने बताया की नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान ने  शपथ ग्रहण करने के उपरांत अपने समर्थकों के साथ स्थाई गौशाला पहुंचकर अस्थाई गौशाला में पल रही 3 दर्जन से ज्यादा गोवंश पशु को गौशाला से बाहर का रास्ता दिखा दिया तथा कहा की शपथ ग्रहण करने के बाद वर्षों से कैद व गोवंशीय पशुओं को रिहा करना उन्हें स्वतंत्र करना सबसे बड़ा पुण्य है लोग जनप्रतिनिधि चुनने के बाद कोई मिष्ठान वितरण करता है कोई  बस्त्र तो कोई उपहार जनता को भेट करता हैं| मेने  अस्थाई गौशाला में पल रही भूखे प्यासे को बंसी पशुओं को बाहर का रास्ता दिखा कर कैद से मुक्त करते हुए पुण्य लाभ पाया है| जिसकी नगर में व्यापक चर्चा रही  वहीं इस बाबत जब ग्राम प्रधान महेश यादव से बात की गई तो  कहा  की अस्थाई गौशाला में रह रहे गोवंश पशुओं को धूप से बचने का प्रबंध न होने के कारण उन्हें कड़ाके की धूप को देखते हुए जंगल में छोड़ दिया जाता है तथा शाम होते ही उन्हें पशुशाला में पहुंचा दिया जाता है| गोवंश पशुओं को छोड़ने का उनका कोई गलत इरादा नहीं है| गोवंश के गो वंश के पशुओं को आश्रय स्थल से छोड़ने की सूचना असत्य है| यह सूचना किसी विरोधी द्वारा बदनाम करने के उद्देश्य कराई गई है|

समर इंडिया ब्यूरो चीफ – जयकिशन सैनी

0 comment

You may also like

Leave a Comment