समर इंडिया । SAMAR INDIA

अवैध निर्माण को रुकवाया जाय तथा वादी को कब्जा दिलाया जाय

by AMAN KUMAR SIDDHU
0 comment

समर इंडिया के लिए गिरजा शंकर अग्रवाल की रिपोर्ट –

प्रार्थनी सावित्री ने अपने पत्र के मुताबिक़ नगर पालिका परिषद ,कोंच से मांग की हैं। उसे उपरोक्त मकान का कब्जा दिलाया जाय तथा अवैध निर्माण को रोका जाय । प्रार्थनी के दिए गए पत्रानुसार पालिका अभिलेखों में एक किता मकान सन् 1990- 1995 में श्रीमती सावित्री पुत्री कढोरे जाटव तथा चाचा बारेलाल पुत्र कल्ले जाटव का नाम दर्ज था ।जिसका मकान न. 383 था। तथा मकानबी न. 384 पर प्रार्थनी के अन्य चाचा राम प्रसाद पुत्र कल्ले जाटव के फोत हो जाने के कारण उनके पुत्र हरनारायण व मंगल सिंह का नाम दर्ज था, वर्ष 1995- 2000 के गृहकर अभिलेखों में भी क्रमशः म.न. 413 व 414 पर यही नाम अंकित है इसी दौरान प्रार्थनी के चाचा लावल्द फ़ोत हो गए। तथा सवित्रीके पिता की मृत्यु हो गयी ।सावित्री अपने ससुराल ग्वालियर चली गयी थी।वर्ष 2000- 2005 केगृहकर अभिलेखों में पालिका में कर्मचारियों से साठ गाँठ करके उक्त मकान पर वारेलाल ,कढोरे के साथ रामप्रसाद का नाम गलत तरीके से बिना किसी आधार के दर्ज करवा लिया ।जब कि रामप्रसाद की मृत्यु वर्ष 1980के पूर्व हो चुकी थी। जैसा कि पालिका ने वर्ष 1980- 1985 के गृहकर अभिलेखों में दर्ज किया गया हैं।इसके पश्चात उक्त मकान पर मंगल सिंह पुत्र रामप्रसाद व नेकसी बाई पत्नी रामप्रसाद का नाम दर्ज कर दिया गया है। जब की उक्त मकान जिसका वर्तमान में मकान न.-550 पर विरासतन सावित्री पुत्री कढोरे लाल का नाम तन्हा दर्ज होना आवश्यक हैं।फ़रवरी 2021 में मंगल सिंह पुत्र रामप्रसाद ने उक्त मकान को मुन्ना कुरैशी पुत्र कल्ला निवासी आराजीलेन ,कोंच को बेच दिया गया ।जैसे ही सावित्री को पता चला की उक्त मकान को मंगल सिंह के द्वारा बेंच दिया गया ।तब सावित्री ने 24 मार्च 2021 को अधिशासी अधिकारी/ उपजिलाधिकारी , नगर पालिका परिषद, कोंच को अवगत कराया। उपजिलाधिकारी ने नगर पालिका से आख्या मांगी। आख्या आने के उपरान्त उपजिलाधिकारी ने दिनांक 24 अप्रैल 2021 को दोनों लोगो को नोटिस जारी कर दिया ।नोटिस का उत्तर प्रार्थी ने दिनांक 07/05/2021 को पालिका कार्यालय में दाखिल कर दिया गया । पालिका द्वारा कार्यवाही चल रही थी। तभी मुन्ना कुरैशी पुत्र कल्ला उक्त मकान पर अवैध निर्माण शुरूकर दिया गया हैं। अधिकारियो की साठ, गाठ के चलते ही प्राधिकरण से नक्सा पास कराके अधिकारियो पर सन्देह प्रतीत होता हैं। अवेध निर्माण को रुकवा कर सावित्री पुत्री कढोरे जाटव को कब्जा दिया जाय।

0 comment

You may also like

Leave a Comment