समर इंडिया । SAMAR INDIA

सहसवान विकास खंड क्षेत्र की ग्राम पंचायत सरकारों की(मुखिया) प्रधान पदों पर महिलाओं की बल्ले बल्ले।

by AMAN KUMAR SIDDHU
0 comment

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में निर्वाचित महिलाओं का जादू सर चढ़कर बोला।

कई पुरुषों को पछाड़कर महिला प्रत्याशियों ने ग्राम प्रधान मुखिया पदों पर किया कब्जा।

विकासखंड परिसर में निर्वाचित महिलाओं की होगी बल्ले बल्ले

सहसवान। विकासखंड सहसवान क्षेत्र में संपन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव मैं निर्वाचित 104 ग्राम पंचायतों कि सरकार की बागडोर 50% महिलाओं प्रधान (मुखिया) के हाथों में सोपी गई है वहीं ग्राम पंचायतों की सरकार संभालने वाले 30 (मुखिया ) प्रधान अशिक्षित है 46 के बारे में कोई जानकारी नहीं है निर्वाचित मुखिया( प्रधान )1 परस्नातक 3 स्नातक 11 इंटरमीडिएट 6 हाई स्कूल 5 प्राइमरी 2 जूनियर हाई स्कूल तक की शिक्षा ग्रहण किए हुए हैं।
ज्ञात रहे विकासखंड सहसवान क्षेत्र में 104 ग्राम पंचायतों के लिए संपन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव (ग्राम प्रधान पद के )संपन्न होने के बाद उपरोक्त आंकड़े प्रकाश में आए हैं।
विकासखंड सहसवान क्षेत्र में 104 ग्राम पंचायतों की सरकार की गठन के लिए क्षेत्र की जनता ने 51 महिलाओं को ग्राम प्रधान मुखिया पद की जिम्मेदारी सौपी है। जिसमें 35 महिलाएं आरक्षित पदों से ग्राम प्रधान मुखिया चुनी गई शेष 15 महिलाएं अनारक्षित पदों से चुनकर आई इस बार 104 ग्राम पंचायतों में 50 प्रतिसत ग्राम प्रधान (मुखिया ) महिलाओं की बल्ले बल्ले रहेगी। ग्राम पंचायतों की सरकार में 30 ग्राम पंचायतों की सरकार के प्रधान ( मुखिया अशिक्षित चुने गए हैं। 46 मुखियायो ने निर्वाचन आयोग को किसी भी प्रकार की शिक्षा संबंधी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई है जिसके कारण उपरोक्त 46 ग्राम पंचायतों के( मुखिया )प्रधान की शैक्षिक योग्यता क्या है। इस पर विकास खंड कार्यालय के अधिकारियों का भ्रम बना हुआ है ग्राम पंचायतों की सरकार के ग्राम प्रधान (मुखियायो )में एक परस्नातक 3 स्नातक 11 इंटरमीडिएट 6 हाई स्कूल 2 जूनियर हाई स्कूल 5 प्राइमरी स्कूल तक की शिक्षा ग्रहण करने की जानकारी निर्वाचन आयोग को दिए गए नामांकन पत्र में उपलब्ध कराई है। विकास खंड कार्यालय सहसवान क्षेत्र के अंतर्गत 104 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद( मुखिया) के रूप में 33% महिलाओं के आरक्षण होने के उपरांत 35 महिलाओं को पद आरक्षित किए गए शेष 69 ग्राम पंचायत के प्रधान( मुखिया).पद पुरुषों के लिए आरक्षित किए गए 35% महिलाओं को पद आरक्षित होने के बावजूद 16 ग्राम पंचायतों में महिलाओं ने प्रधान पदो पर चुनाव लड़ते हुए पुरुष प्रधान पद के प्रत्याशियों को पछाड़ते हुए सोलह ग्राम प्रधान पदों पर और कब्जा कर लिया अब 104 ग्राम पंचायतों 51 महिलाओं ने ग्राम प्रधानी (मुखिया) पदों पर अपना दबदबा कायम रखा है।

समर इंडिया ब्यूरो चीफ – जयकिशन सैनी

0 comment

You may also like

Leave a Comment