समर इंडिया । SAMAR INDIA

अगर मोदी सेना को पहले खुली छूट दे देते तो पुलवामा और उरी नहीं होता: मायावती

by chalunews
0 comment

[ad_1]


बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती (Mayawati) ने पाकिस्तान के भीतर आतंकी शिविरों पर भारतीय वायुसेना की कार्रवाई की तारीफ करते हुए मंगलवार को कहा कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सेना को पहले ही खुली छूट दे दिए होते तो पठानकोट, उरी और पुलवामा जैसी आतंकी घटनाएं नहीं होतीं और हमारे इतने जवानों की शहादत नहीं होती.

जैश आतंकियों आदि के खिलाफ पीओके में घुसकर भारतीय वायुसेना के बहादुर जाँबाज़ों की साहसिक कार्रवाई को सलाम व सम्मान। काश हमारी सेना को फ्री हैण्ड बीजेपी की सरकार पहले दे देती तो बेहतर होता।
— Mayawati (@Mayawati) February 26, 2019

मायावती ने ट्वीट कर कहा, ‘जैश आतंकियों आदि के खिलाफ पीओके में घुसकर भारतीय वायुसेना के बहादुर जांबाजों की साहसिक कार्रवाई को सलाम व सम्मान. काश हमारी सेना को फ्री हैंड बीजेपी की सरकार पहले दे देती तो बेहतर होता.’

पीएम ने पुलवामा के जवानों की शहादत के बदले में कार्रवाई करने के लिये अब जो फ्री हैण्ड सेना को दिया है अगर यह फैसला मोदी सरकार द्वारा पहले ले लिया गया होता तो पठानकोट, ऊरी व पुलवामा जैसी अति-दुःखद व अति-चिन्तित करने वाली घटनायें नहीं होती और न ही इतने जवान शहीद होते।
— Mayawati (@Mayawati) February 26, 2019

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री ने पुलवामा के जवानों की शहादत के बदले में कार्रवाई करने के लिए अब जो फ्री हैंड सेना को दिया है अगर यह फैसला मोदी सरकार द्वारा पहले ले लिया गया होता तो पठानकोट, उरी व पुलवामा जैसी अति-दुःखद व अति-चिंतित करने वाली घटनाएं नहीं होती और न ही इतने जवान शहीद होते.’

I salute the Indian Air Force and indeed all our Armed Forces. Congratulations @IAF_MCC
— Akhilesh Yadav (@yadavakhilesh) February 26, 2019

समाजवादी पार्टी (SP) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा, ‘अपनी वायुसेना और सशस्त्र बलों को सलाम करता हूं. बहुत बधाई.’

भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने मंगलवार को तड़के नियंत्रण रेखा के दूसरी ओर पाकिस्तानी हिस्से में कई आतंकी शिविरों पर बमबारी की.

सरकार से जुड़े सूत्रों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि यह कार्रवाई जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को आतंकी गुट जैश-ए-मोहम्मद द्वारा किए गए आत्मघाती हमले के ठीक 12 दिन बाद की गई है. पुलवामा हमले में CRPF के 40 जवान शहीद हो गए थे.

[ad_2]

Source link

0 comment

You may also like

Leave a Comment