फरीदा बांगर में डेंगू बुखार का कहर जारी तीन के बाद दो और मौत, स्वास्थ्य विभाग नहीं ले रहा सुध

कागजों में कर रहे कैम्प का आयोजन,मरीजों को भनक तक नहीं

समर इडिया संवाददाता कृष्णा जी बुलंदशहर

बुलंदशहर
थाना नरसेना क्षेत्र के गांव फरीदा बांगर में डेंगू बुखार की चपेट में आने से लगातार मौंतों का सिलसिला अभी थम नहीं रहा । आज फिर दो लोग डेंगू ,मलेरिया के शिकार होने से मौत हो गयी गांव में भय माहौल है पांच दिन पूर्व छः वर्षीय बच्चे सहित तीन लोगों की हो गई मौत गांव के हरिदत्त पुत्र रामचंद्र 52 वर्षीय को पांच दिन पूर्व बुखार आया था बुगरासी ले जाते समय रास्ते में मौत हो गयी दूसरे 80 वर्षीय दीवान को टाइफाइड होने पर बुलंदशहर उपचार के दौरान मौत होने पर गांव मेंभय माहौल है बताते हैं कि रनवीर सिंह के सात वर्षीय बेटे विवेक को कई दिन से बुखार आया था। परिजन उसे इलाज को दौलतपुर व जहांगीराबाद ले गये थे। बाद में हालत गंभीर के चलते मेरठ ले गए। जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। गमगीन माहौल के चलते आस-पड़ोस में चूल्हे तक नही जल सके। मृतक बच्चे का गंगाघाट पर क्रियाक्रम कर दिया है। वहीं वृद्धा नन्ही पत्नी शंभू की मौंत का कारण बुखार बताया गया

है। जबकि दो दिन पूर्व रिस्तेदारी में आये वृद्ध तेजराम की बुखार के कारण दौलतपुर में उपचार के दौरान मौंत होना बताया गया है। ग्रामीण दोलतराम ने बताया कि मल्लाह बस्ती में बुखार की वजह से ग्रामीण बुखार भय के साये में है। घर में ओमवती, तारावती, राजवती, काजल बुखार की चपेट में है। रघुवर दयाल ने बताया कि घर में रेखा, वेदू आदि सहित काफी लोग बुखार का उपचार झोलाछाप चिकित्सकों की दुकान पर करा रहे है इलाज़ काफी महिला,पुरूष, बच्चों के हाथ में ड्रिप लगी हुई है, ।
लगातार पांच लोगों की मौतों पर स्वास्थ्य विभाग नहीं ले रहा सुधार केवल कागजों में कर रहे कैम्प का आयोजन ।
लोगों का कहना है कि घर घर में लोग बुखार से पीड़ित हैं गांव में कैम्प से अनजान हैं पूरा मौहल्ला

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
E-Paper